बैतूल: अपनी ही फसल की चराई के लिए किसानों ने खेतों में छोड़े मवेशी, ये है कारण

  |   Madhya-Pradeshnews

बैतूल के प्रमुख धान उत्पादक क्षेत्र चोपना में किसानों (farmers) के साथ बड़ा धोखा (fraud) हुआ है. यहां के लगभग 250 से ज़्यादा किसानों ने दो बीज विक्रेता कम्पनियों (seed seller companies) से धान (Paddy) के जो बीज (Seeds) खरीदे थे वो अमानक निकले. इससे सैकड़ों हेक्टेयर क्षेत्र में लगी धान की फसल बर्बाद हो गई है. आलम ये है कि यहां किसानों ने धान के खेतों में अपने मवेशियों को चराई के लिए छोड़ दिया है. कर्ज लेकर फसल लगाने वाले किसानों के सामने अब कर्ज चुकाने तक की कोई व्यवस्था नहीं है.

अमानक बीज से भूसे में बदली धान की फसल...

फोटो - http://v.duta.us/v902hgAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/X21rPwAA

📲 Get Madhya Pradesh News on Whatsapp 💬