माउंट पाइकेतो 👤 पहुंचे किम जोंग-उन, अमेरिका के खिलाफ संघर्ष ✊ का दिया मंत्र

  |   Hindiworldnews

उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग-उन ने अमेरिकी नेतृत्व के प्रतिबंधों के खिलाफ लड़ने का संकल्प लिया और कहा कि इनकी वजह से उनके देश को कई कठिनाईयों का सामना करना पड़ा है। सरकारी मीडिया ने बुधवार को किम को सफेद घोड़े पर 'माउंट पाइकेतो' जाते दिखाया। कोरियाई प्रायद्वीप की इस सबसे ऊंची चोटी को उत्तर कोरियाई लोग पवित्र मानते हैं।

किम महत्वपूर्ण फैसले लेने से पहले अक्सर माउंट पाइकेतो आते हैं। सोल और वॉशिंगटन के साथ कूटनीतिक संबंध शुरू करने से पहले 2018 में भी वह यहां आए थे। ‘कोरियन सेंट्रल न्यूज एजेंसी’ ने बताया कि किम ने निकटवर्ती निर्माणाधीन स्थलों का दौरा भी किया और परमाणु हथियार कार्यक्रम की वजह से उनके देश पर लगे प्रतिबंधों की आलोचना भी की।

एजेंसी ने उनके हवाले से कहा, ‘अमेरिकी नेतृत्व वाले (उत्तर कोरिया के प्रति) शत्रुतापूर्ण बलों ने कोरियाई लोगों पर जो दुख बरपाया है.... वह उनके गुस्से में बदल गया है।’ उत्तर कोरिया-अमेरिका के बीच परमाणु वार्ता इस महीने की शुरुआत में बेनतीजा रही थी। संयुक्त राष्ट्र में भी उत्तर कोरिया ने वार्ता असफल होने का जिम्मेदार अमेरिका को ठहराया।

फोटो - http://v.duta.us/ASnCtAAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/_ythTgAA