मांगों को लेकर आंदोलन शुरू

  |   Chhindwaranews

बिछुआ . शासकीय महाविद्यालयों में कार्यरत अतिथि विद्वान अपनी मांग के समर्थन में मौन जुलूस, कैंडल मार्च, भीख मांगकर अपनी बात शासन तक पहुंचाने का प्रयास कर रहे है। अनेक वर्षों से कार्यरत अतिथि विद्वानों ने नियमितता के लिए सरकार से अनेक बार बात रखी परंतु उन्हें आश्वासन के सिवाय कुछ नहीं मिला।

अतिथि विद्वानों का कहना है कि जब तक शासन के द्वारा लिखित आदेश जारी नहीं किया जाता तब तक वे आंदोलनरत रहेंगे। सोमवार को अतिथि विद्वानों ने सत्कार तिराहे पर मुख्यमंत्री कमलनाथ को रोककर अपनी समस्याओं से अवगत कराने का प्रयास किया।

सत्कार तिराहे पर कार्यक्रम में आए सीएम कमलनाथ के समक्ष अतिथि विद्वान हाथ में बैनर लिए सडक़ पर ही बैठ गए। अतिथि विद्वानों के एक प्रतिनिधिमंडल की मुलाकात सीएम से कराई गई। वार्ता विफल हो गई इसके बाद आक्रोशित अतिथि विद्वानों ने क्रमिक भूख हड़ताल का ऐलान कर दिया। अब अतिथि विद्वान क्रमिक भूख हड़ताल पर बैठे गए हैं, वचन क्रमांक 17.22 में समाहित शासकीय महाविद्यालय बिछुआ सहित जिले के समस्त अतिथि विद्वानों ने भूख हड़ताल में अपना पूर्ण सहभागिता निभाई है। इसके पूर्व भोपाल में शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी ने आश्वासन दिया है परंतु अभी तक ऐसा कोई आदेश जारी नहीं हुआ है। इन कारणों से अतिथि विद्वानों के द्वारा लगातार संघर्ष किया जा रहा है।

फोटो - http://v.duta.us/s0w1swAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/SOar8wAA

📲 Get Chhindwara News on Whatsapp 💬