मुचलका पाबंद 40 लोगों ने कराई जमानत, पांच बाकी

  |   Pilibhitnews

बीसलपुर (पीलीभीत)। बिना अनुमति आंबेडकर और महात्मा बुद्ध की प्रतिमाएं ग्राम समाज की जगह पर स्थापित करने के मामले में मुचलका पाबंद किए गए ग्रामीणों को गिरफ्तारी का डर सताने लगा है। 45 में 40 ग्रामीणों ने मंगलवारी को एसडीएम कोर्ट पहुंचकर जमानत करा ली। उनको डर था कि कहीं उनका गिरफ्तारी वारंट न जारी कर दिया जाए।

कोतवाली क्षेत्र के गांव चुर्रा गौटिया के कुछ ग्रामीणों ने चार अक्तूबर की रात गांव के बाहर ग्राम पंचायत के खाली पड़े भूखंड पर डॉ. भीमराव आंबेडकर और महात्मा बुद्ध की प्रतिमाएं बिना अनुमति स्थापित कर दी थी। एसडीएम के निर्देश पर हलका लेखपाल प्रदीप कुमार ने कोतवाली में इसकी रिपोर्ट भी दर्ज कराई है। इसमें गांव के 31 लोगों को नामजद और अन्य कुछ को अज्ञात में आरोपी बनाया गया है। इस संबंध में कोतवाली पुलिस की ओर से 45 लोगों के विरुद्ध निरोधात्मक कार्रवाई की गई थी। इसकी रिपोर्ट एसडीएम कोर्ट में भेजकर एक- एक लाख रुपये के मुचलकों से पाबंद किया गया था। एसडीएम कोर्ट ने निरुद्ध लोगों को नोटिस भेजकर तत्काल कोर्ट में पेश होकर जमानत कराने का आदेश दिया। इसके बाद खलबली मच गई। नोटिसों में दी गई गिरफ्तारी वारंट जारी करने की चेतावनी से ग्रामीण घबरा गए। उन्होंने मंगलवार को गिरफ्तारी के डर से जमानत कराने का निर्णय लिया। 45 में से 40 लोगों ने मंगलवार को कोर्ट में पेश होकर अपनी जमानत कराई। एसडीएम सौरभ दुबे ने बताया कि जिन लोगों ने कोर्ट में पेश होकर जमानत कराई है। जिन ग्रामीणों की जमानत नहीं हुई है, उनके गिरफ्तारी वारंट जारी किए जाएंगे।

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/jmXDygAA

📲 Get Pilibhit News on Whatsapp 💬