मस्जिद की दीवार चार फुट पीछे हटाई

  |   Aligarhnews

इकराम वारिस

72 साल पहले नईबस्ती मोहल्ले में बनी मस्जिद की चार फुट दीवार पीछे कर ली गई है, क्योंकि वह नाले पर बनी थी। मस्जिद कमेटी का मानना है कि कब्जे वाली जमीन पर नमाज पढ़ना मुनासिब नहीं लग रहा था। सफाई कर्मियों को सफाई करने में दिक्कत होती थी। ऐसे हालात में दीवार को नाले से पीछे करने का फैसला लिया गया। यही नहीं इस मोहल्ले में मंदिर, मस्जिद, चर्च, गुरुद्वारा भी है, जो कौमी एकता की मिसाल है।

नई बस्ती में वर्ष 1947 में मस्जिद की तामीर (निर्माण) की गई थी। हालांकि, जिन्होंने मस्जिद की तामीर कराई थी। वो अब दुनिया में नहीं हैं, लेकिन उनके परिवार के लोग इस मस्जिद की देखभाल करते हैं। मस्जिद का एक हिस्सा नगर निगम के नाले पर था। यह बात कमेटी के लोगों को कचोटती रहती थी कि अवैध जगह पर नमाज मुनासिब नहीं है। इसके बाद आसपास के लोगों व मस्जिद के जिम्मेदारानों ने आपस में फैसला कर मस्जिद के एक हिस्से को तुड़वा दिया, जो चार फुट की जगह थी। टूटी जगह पर वजू खाना था, जहां लोग वजू करते थे। दीवार पीछे होने से नाला खुल गया, जहां अब आसानी से सफाई हो सकेगी। जिले का यह पहला मोहल्ला है, जहां मंदिर, मस्जिद, चर्च, गुरुद्वारा है और उसके मानने वाले भी हैं।...

फोटो - http://v.duta.us/9bkscwAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/ol_sFQAA

📲 Get Aligarh News on Whatsapp 💬