सोयाबीन के भावांतर का भुगतान ना होने से ये कर रहे किसान...

  |   Khandwanews

खंडवा। फाइल फोटो

खंडवा. खरीफ सीजन में 2019 के तहत ई-पोर्टल पर 3 अक्टूबर से मक्का, सोयाबीन, मूंग, उड़द, कपास के पंजीयन चल रहे हैं। पंजीयन के लिए 69 केंद्रों की व्यवस्था की है। लेकिन 14 दिन में केवल 25 केंद्रों पर ही पंजीयन शुरू हुए है। 14 दिन में मात्र 345 किसानों ने ही पंजीयन कराए है। पिछले वर्ष 2018 में जिले में 61536 किसानों ने पंजीयन कराए थे। इस बार अब पंजीयन कराने वाले किसानों की संख्या पिछले वर्ष के मुकाबले एक फीसदी भी नहीं पहुंच पाई है। पंजीयन कराने के अंतिम 8 दिन किसानों के पास शेष है। ऐसे में पिछले वर्ष की तुलना में पंजीयन की संख्या आधी भी पहुंचना मुश्किल है। पंजीयन कम होने के पीछे दो मुख्य कारण सामने आ रहे। पहला ई-पोर्टल का नहीं खुलना और दूसरा कारण प्रदेश सरकार के प्रति किसानों की नाराजगी है।...

फोटो - http://v.duta.us/ydhLRwAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/0AVwNgAA

📲 Get Khandwa News on Whatsapp 💬