50 हजार के ईनामी मोस्ट वांटेड अजय पिलखनी ने फरारी के समय गोवा व पंजाब के होटलों में की पार्टनरशिप

  |   Ambalanews

करीब डेढ़ साल पूर्व बराड़ा के त्रिवेणी चौक से अपहरण के बाद विवेक की गोली मारकर हत्या के मामले में अदालत द्वारा भगौड़ा करार दिए गए 50 हजार के इनामी मोस्ट वांटेड पिलखनी वासी अजय राणा ने फरारी का अधिकतर समय गोवा तथा पंजाब में गुजारा। अपने दूर के रिश्तेदार के साथ होटलों में पार्टनरशिप की। कुछ समय दिल्ली में भी गुजारा। टूर एंड ट्रेवल एजेंसियों के संपर्क में रहा। होटल के ग्राहक उपलब्ध कराता था। उसने एमआर ग्रुप (मोनू राणा गैंग) के इशारे पर साथियों संग इस सनसनीखेज वारदात को अंजाम दिया था। दस आरोपियों में से केवल नीरज गांधी की गिरफ्तारी बकाया है। 11 सितंबर को नारायणगढ़ सीआईए द्वारा पकड़े गए अजय को दो दिन के रिमांड के बाद सोमवार को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। पिछले साल 17 मई को यमुनानगर थाने में मृतक के चाचा अभिषेक के बयानों पर एमआर गैंग सरगना शमशेर सिंह उर्फ मोनू राणा, थंबड़ वासी अमर सिंह व गौतम व अन्य पर अपहरण व हत्या का केस दर्ज कर तफ्तीश सीआईए को सौंपी गई थी। अगस्त माह में आरोपी को भगौड़ा करार दिलाकर इनाम रखा गया था।...

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/3Q4odgAA

📲 Get Ambala News on Whatsapp 💬