Ngt : स्थायी ज्यूडीशियल एक्सपर्ट मेंबर नहीं होने से 55 फीसदी तक कम फाइल हो रहे हैं पर्यावरण से जुड़े मामले

  |   Bhopalnews

विकास वर्मा, भोपाल। पर्यावरण संरक्षण व पर्यावरणीय विवादों के समाधान के लिए बनाए गए नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) की भोपाल स्थित सेंट्रल जोन बेंच में पदस्थ ज्यूडीशियल मेंबर जस्टिस रघुवेन्द्र एस राठौर और एक्सपर्ट मेंबर सत्यवान सिंह गर्बयाल का 1 फरवरी 2018 को तत्कालीन चेयरपर्सन ने दिल्ली स्थित प्रिंसिपल बेंच ट्रांसफर कर दिया था। जिसके बाद करीब 7 महीने तक सुनवाई बंद रही, आवेदकों को सिर्फ तारीख मिलती रहीं। अक्टूबर 2018 से प्रत्येक मंगलवार और गुरुवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए केस और पेंडिंग मामलों की सुनवाई शुरू हुई। लेकिन एनजीटी की बेंच भोपाल में नहीं होने की वजह से यहां फाइल होने वाले केस की संख्या करीब 55 फीसदी तक घट गई है।...

फोटो - http://v.duta.us/PJNtXwAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/vKrOPwAA

📲 Get Bhopal News on Whatsapp 💬