आइएएस व आइपीएस अफसरों की चुनावी दंगल में रही है धाक, अमिताभ चौधरी क्रिकेट में जीते पर राजनीति में नहीं चला सिक्का

  |   Ranchinews

सुनील चौधरी

रांची : झारखंड की सियासी फिजा को आज कल अफसरों की अफसरशाही से ज्यादा खादी का पावर भा रहा है. ब्यूरोक्रेट्स और राजनीति की संगत तो देश में पहले से चली आ रही है. राजनीतिक व्यक्ति जब सत्ता में आता है, तो ब्यूरोक्रेट्स को अपनी योजना या विजन देकर काम करता है या ब्यूरोक्रेट्स अपना विजन देकर राजनेताओं को संतुष्ट करते हैं, तो राजनेता उसके अनुरूप काम करते हैं. अक्सर ब्यूरोक्रेटस में राजनीति का बुखार चढ़ता रहा है और वे खुद चुनावी मैदान में भी उतरते रहे हैं.

चाहे आइपीएस-आइएएस हो या राज्य प्रशासनिक सेवा के अधिकारी चुनावी मैदान में उतरने लगे हैं. कई अफसरों ने सफलता पायी है, तो कई असफल भी रहे. हालांकि यह वर्षों से होता आ रहा है कि वर्दी छोड़ कर अधिकारी लोकतंत्र के महापर्व में जुट जाते हैं. अभी आइपीएस अधिकारी रेजी डुंगडुंग ने चुनावी मैदान में उतरने का एलान कर दिया है. उन्होंने वीअारएस ले लिया है. खबर है कि सिमडेगा विधानसभा से वह चुनाव लड़ेंगे....

फोटो - http://v.duta.us/Pivy6wAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/43S7ygAA

📲 Get Ranchi News on Whatsapp 💬