कचौरी ही नहीं, कचौरे के भी शौकीन हैं हम, रोजाना खा रहे लाखों का कचौरा

  |   Kotanews

कोटा. कोटा और यहां के लोग कचौरी प्रेम के लिए जाने जाते हैं। राष्ट्रीय दशहरा मेले में बिक रहा नसीराबाद का कचौरा इसकी तस्दीक करता है कि कचौरी ही नहीं कोटा वाले इस कचौरे के भी शौकीन हैं। नसीराबाद के प्रसिद्ध कचौरे की दोनों दुकानों पर लगी भीड़ इसकी गवाह है। कचौरा की प्रसिद्धि का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि मेले में आने वाले लोग प्रतिदिन आधा क्विंटल यानी तकरीबन 1.50 लाख रुपए का कचौरा खा जाते हैं।

दुकान के अर्पित अग्रवाल ने बताया कि मेले में कचौरे की दोनों दुकानों पर रोजाना करीब 500 किलो से ज्यादा का कचौरा लोग खा जाते हैं। इस तरह से बीस दिन करीब दस हजार किलो से ज्यादा का कचौरा बिक जाएगा। यह आंकड़ा तकरीबन तीस लाख रुपए बैठेगा।...

फोटो - http://v.duta.us/JIPa9QAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/1wO5CgAA

📲 Get Kota News on Whatsapp 💬