कितना ही पुराना हो एक्जिमा इस तरह हो जाएगा ठीक, जरूर जान लें ये उपचार

  |   Bhopalnews

भोपाल/ एक्जिमा एक ऐसी बीमारी है, जो व्यक्ति की त्वचा पर कहीं भी हो सकती है। इसमें त्वचा पर लाल या पुराने होने पर हल्के काले रंग के दाग-धब्बे पड़ जाते हैं। इनमें काफी तेज़ खुजली भी होती है, जो कई बार पीड़ित के लिए असहनीय भी हो जाती है। एक्जिमा ज्यादा फैलने पर त्वचा पर छाले भी पड़ जाते हैं, जिनसे पानी आने लगता है। कई बार इनसे खून या मवाद भी बहने लगता है। एक्जिमा से निकलने वाला पानी त्वचा पर जहां जहां लगता है, ये चमड़ी के उस स्थान पर भी हो जाता है।

क्या है एक्जिमा

'एक्जिमा' शब्द का प्रयोग विशेष रूप से एटोपिक डर्माटाइटिस की स्थिति को व्यक्त करने के लिए भी किया जाता है। 'एटोपिक' एक तरह की एलर्जी का प्रकार होता है। जिसमें ना शांत होने वाली असहनीय खुजली होती है। त्वचा पर जगह जगह लाल चकते हो जाते हैं, जो आगे जाकर अस्थमा रोग का भी कारण बन जाता है। पीने या इस्तेमाल किये जाने वाले दूषित पानी के कारण भी एक्जिमा होने के चांसेस काफी बढ़ जातेहैं। राजधानी भोपाल में भी कई इलाकों का जमीनी पानी काफी दूषित है, जिसके कारण यहां बड़ी आबादी चमड़ी रोग से ग्रस्त है। चिंता की बात ये है कि, अब तक इसका कोई पूर्ण उपचार नहीं है। दवाओं के माध्यम से ये कुछ समय के लिए दब जाता है, लेकिन कुछ समय बाद ये फिर से सामने आ जाता है। लौटकर आने पर ये दोगुनी तेजी से फैलने लगता है। इसलिए आज हम आपको एक्जिमा ख़त्म करने का एक बहुत ही कारगर उपचार बताएंगे, जो जल्दी ही आपकी इस समस्या को ठीक कर देगा। एक्जिमा एक ऐसा रोग है, जिससे सिर्फ शहर ही नहीं बल्कि देशबर में लोग परेशान हैं। इसलिए जितना हो सके इस जानकारी को अन्य लोगों तक पहुंचाएं।...

फोटो - http://v.duta.us/Rmy1PQAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/dyz5-AEA

📲 Get Bhopal News on Whatsapp 💬