काम नहीं करने वाली आशा सहयोगियों पर गिरेगी गाज, स्वास्थ्य विभाग उठाने वाला है कड़ा कदम

  |   Jodhpurnews

जोधपुर. आमजन तक स्वास्थ्य सेवाएं पहुंचाने के लिए तैनात कई आशा सहयोगिनी फील्ड में काम नहीं कर रही हैं। सरकारी रिपोर्ट के अनुसार इस वर्ष अप्रेल माह से अगस्त तक प्रदेश में कार्यरत 842 आशा सहयोगिनी ने शून्य प्रोत्साहन राशि अर्जित की है। काम के प्रति इनके नकारात्मक रवैये के कारण बड़ी संख्या में प्रसूताएं और नवजात टीकाकरण समेत अन्य स्वास्थ्य सेवाओं से वंचित हो रहे हैं। जबकि ग्रामीण क्षेत्र में नवजात को टीकाकरण और प्रसूताओं को सरकारी योजनाओं का लाभ आशा सहयोगिनी के मार्फत ही मिलता है।

यह रिपोर्ट आने के बाद निदेशक (आरसीएच) ने प्रदेश के सभी चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों को शून्य प्रोत्साहन राशि प्राप्त करने वाली आशाओं का भौतिक सत्यापन कराने का निर्देश दिया है। निर्देश के अनुसार जिला आशा समन्वयक, ब्लॉक आशा सुपरवाइजर और पीएचसी आशा सुपरवाइजर को आशा सहयोगिनियों से स्पष्टीकरण लेना होगा। इसके बाद काम नहीं करने वाली आशाओं को हटाने की कार्रवाई की जाएगी।...

फोटो - http://v.duta.us/Y_BqUwAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/tnxO8AAA

📲 Get Jodhpur News on Whatsapp 💬