कृषि अवशेष जलने पर लेखपाल होंगे जिम्मेदार

  |   Mirzapurnews

मिर्जापुर। जिले में पराली अथवा कृषि अवशेष को जलाने पर जिला प्रशासन कार्रवाई करेगा। इस संबंध में डीएम की ओर से सभी चार एसडीएम के नेतृत्व में टीम बनाई गई है जो अपने- अपने क्षेत्र में इसकी रोकथाम के लिए काम करेंगे। इसमें संबंधित सीओ व कृषि विभाग के दो अधिकारी भी शामिल होंगे।

जिला प्रशासन की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि पराली अथवा धान का पुआल व अन्य कृषि अपशिष्ट जलाने से वायु प्रदूषण की समस्या उत्पन्न होती है। इसकी रोकथाम के लिए तहसील स्तर पर उड़नदस्ता गठित किया गया है। इस दल को निर्देश दिया गया है कि वे अपने क्षेत्र में तहसील व विकास खंड के सभी लेखपाल व ग्राम प्रधान को सम्मिलित करते हुए एक व्हाट्सएप ग्रुप बनाएं। ताकि यदि संबंधित क्षेत्र में कोई इस प्रकार की घटना होती है तो वे इस उड़नदस्ते को तत्काल सूचना देंगे। डीएम अनुराग पटेल ने सचेत किया है कि यदि इस प्रकार की कोई घटना कहीं पाई जाती है तो उसके लिए संबंधित लेखपाल जिम्मेदार होंगे। उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। यह दस्ता धान कटने से लेकर रबी में गेहूं की बोआई तक सक्रिय रहेगा। लेखपाल व प्रधानों से कहा गया है कि वे किसी भी दशा में अपने क्षेत्र में पराली न जलने दें।

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/RiR42wAA

📲 Get Mirzapur News on Whatsapp 💬