चलती ट्रेन में तबियत बिगड़ी, अस्पताल पहुंचाने स्टेशन में मां लगाती रही गुहार, थम गई इकलौते बेटे की सांस

  |   Durgnews

दुर्ग. यात्रियों की सुरक्षा पहले का दावा करने वाले रेलवे (Railway) के अधिकारियों की उस समय खुल गई जब रायगढ़ निवासी सविता शर्मा अपने 17 साल के एकलौते बेटे नितिन को अस्पताल पहुंचाने मिन्नते करती रही और अधिकारियों ने अनसुनी कर दी। यहां तक कि महिला ने अपने सेल फोन से 112 डायल कर एंबुलेंस भेजने के लिए कहा। इसके बाद भी टोल फ्री नंबर से मदद नहीं मिली। घंटे भर बाद जीआरपी ने महिला और उसके बेटे को जिला अस्पताल (Railway hospital Durg) पहुंचाया जहां बेटे को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

घरों में खाना बनाकर मां करती है जीवन यापन...

फोटो - http://v.duta.us/rRvVuAAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/rGQjZgAA

📲 Get Durgnews on Whatsapp 💬