छात्र सीख रहे सोलर एनर्जी लैंप बनाना

  |   Umarianews

उमरिया. जिले के आदिवासी विकासखण्ड पाली में संचालित हायर सेकेण्डरी स्कूल सुंदरदादर में विद्यार्थियों को नवकरणीय उर्जा के माध्यम से प्रकाश उपलब्ध कराने हेतु सोलर एनर्जी लैंप बनाने का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। इस पहल का उद्देेश्य राईट टू लाईट के तहत दूरस्थ अंचल के क्षेत्रों में रहने वाले विद्यार्थियो को आकस्मिकता की स्थिति में पढाई हेतु चार से पांच घंटे के लिए प्रकाश उपलब्ध कराना है। जिले में पूर्व राष्ट्रपति एवं महान वैज्ञानिक डा. ए पी जे अब्दुल कलाम के जन्म दिवस के अवसर पर विद्यार्थियों को सोलर लैंप बनाने के प्रशिक्षण की शुरूआत की गई है। शाला के प्राचार्य डा विभू मिश्रा ने बताया कि आईआईटी मुंबई के डा. सोलंकी द्वारा दिसंबर 2018 में साबरमती आश्रम से गांधी ग्लोबल सोलर यात्रा शुरू की गई थी। यह यात्रा भारत सहित तीस अन्य देशों में निकाल कर दस लाख से ज्यादा युवाओ को सोलर लैंप निर्माण सिखाने के लक्ष्य के लिए थी। आज जब उर्जा निर्माण हेतु उपयोग किए जाने वाले प्राकृतिक संसाधनों की लगातार कमी होती जा रही है तथा उर्जा की मंाग बढती जा रही है इस परिस्थिति में नवकरणीय उर्जा की ओर समाज को रूख करना ही होगा। सोलर लैंप के निर्माण में 600 रूपये का खर्च आता है। शासकीय उमावि सुंदरदादर में विद्यार्थियों को सोलर लैंप निर्माण का प्रशिक्षण प्रारंभ किया गया है। जिसमें कार्यक्रम में शा उ मा वि सुन्दरदादर के अलावा शा उत्कृष्ट सज्जन स्कूल उमरिया, शा उत्कृष्ट स्कूल पाली, शा कन्या विद्यालय पाली, कन्या परिसर पाली व एकलव्य विद्यालय पाली के चयनित छात्र छात्राओं ने सोलर लैंप निर्माण की कला प्राप्त की।...

फोटो - http://v.duta.us/eVEyOgAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/5wObcgAA

📲 Get Umaria News on Whatsapp 💬