छीना झपटी करने के आरोप में अदालत ने तीन को सुनाई 10-10 साल की कैद, 25-25 हजार रुपये जुर्माना

  |   Kurukshetranews

आगरा वासी ट्रक चालक और परिचालक चाचा भतीजे को जख्मी कर करीब 11 हजार की नगदी व मोबाइल व छीनने में दोषी तीन लोगों को अदालत ने 10-10 साल की कैद की सजा सुनाई है। तीनों दोषी कुरुक्षेत्र और कैथल के रहने वाले हैं। जिला कुरुक्षेत्र के अतिरिक्त एवं सत्र न्यायाधीश राकेश सिंह की अदालत ने छीनाझपटी करने के मामले में आरोपी कुरुक्षेत्र के मोहन नगर वासी गुरबख्श उर्फ मोनी पुत्र अवतार सिंह तथा जिला कैथल के गांव करोड़ा वासी सुमित कुमार पुत्र राम कुमार और बीर करोड़ा (कैथल) वासी कुलदीप उर्फ बिल्ला पुत्र राम निवास को 10-10 साल कैद एवं तीनों को 25-25 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है। यह जानकारी जिला उप न्यायवादी मेनपाल ने दी। जानकारी अनुसार 17 मार्च 2019 को मुकेश पुत्र मिठुन लाल ने थाना शहर थानेसर में पुलिस को उक्त घटनाक्रम की शिकायत दी थी। शिकायतकर्ता के मुताबिक वह सोनीखेड़ा थाना तातपुर जिला आगरा उत्तप्रदेश का रहने वाला है और ट्रक चलाता है। उसके साथ ट्रक पर भतीजा सोनू पुत्र राम बाबू बतौर परिचालक काम रहता है। वे दोनों 16 मार्च 2019 को अपने ट्रक में धोलपुर राजस्थान से सन्नहित सरोवर कुरुक्षेत्र के लिए पत्थर करके चले थे। अगले दिन की सुबह करीब 3 बजे वे सन्निहित सरोवर कुरुक्षेत्र पर पहुंचे थे, जहां उन्होंने ट्रक को सरोवर के सामने नाभा हाउस के समीप खड़ा किया था। शिकायतकर्ता के अनुसार वह और उसका भतीजा सोनू ट्रक के अंदर कैबिन में सो गये थे। करीब 4 बजे सुबह उनके ट्रक की दोनों खिडकियों को किसी ने खटखटाया और उसने देखा कि ट्रक के दोनों खिड़कियों की ओर दो-दो लड़के अपने हाथ में डंडे और दरांतीनुमा हथियार लिये हुए खड़े थे। ट्रक के सामने बिना नंबर वाली सफेद रंग की दो स्कूटी भी खडी थी। खड़खड़ाहट सुनकर उनका भतीजा सोनू भी उठ गया। आवाज सुनने के बाद नीचे खड़े लड़कों ने धमकाते हुए ट्रक को वहां से हटाने के लिये कहा । डर के मारे उन्होंने ट्रक स्टार्ट और आगे जाने लगे तो उसी समय ट्रक की दोनो खिड़कियों को खोलकर दोनों तरफ खड़े लड़के ट्रक के कैबिन में घुस आए। इन्होंने धमकाते हुए कहा कि भाड़ा निकालो, जब उन्होंने देने से मना किया तो इन्होंने शिकायतकर्ता और उसके भतीजे के साथ मारपीट शुरु कर दी। हमलावरों ने दरांतीनुमा किसी हथियार व डंडो से प्रहार किया और जेब से जबरदस्ती करीब 10 हजार रुपये व कमीज की जेब से एक मोबाइल फोन और ड्राइविंग लाइसेंस निकाल लिया तथा उसके भतीजे सोनू की कमीज की जेब से 900 रुपये जबरदस्ती निकाल फरार हो गये। पुलिस ने शिकायत के आधार पर मामला दर्ज कर किया था और जांच अपराध शाखा को सौंपी थी। इस मामले की जांच के दौरान गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस टीम ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया था। इस मामले की सुनवाई करते हुए अदालत ने उपरोक्त आदेश सुनाए।...

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/T8hc6wAA

📲 Get Kurukshetra News on Whatsapp 💬