जेपीएससी घोटाला : कॉपी जांचनेवालों ने Cbi से कहा, जी हां! हमने बढ़ाये नंबर, अध्यक्ष और सदस्यों ने बनाया था दबाव

  |   Ranchinews

शकील अख्तर

रांची : झारखंड लोक सेवा आयोग (जेपीएससी) के तत्कालीन अध्यक्ष और सदस्यों के कहने पर सिविल सेवा परीक्षा (जेपीएससी-1, जेपीएससी-2) में नंबर बढ़ाये गये थे. यह बात सिविल सेवा परीक्षा से जुड़ी कॉपियों की जांच करनेवाले कुछ विशेषज्ञों ने स्वीकार की है. जेपीएससी ने 80 कॉपियां उपलब्ध नहीं करायीं. घोटाले की जांच कर रही सीबीआइ की ओर से सुप्रीम कोर्ट में दायर शपथ पत्र में इस बात का उल्लेख किया गया है.

सीबीआइ की ओर से दायर रिपोर्ट में कहा गया है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के आलोक में जेपीएससी-1 और जेपीएससी-2 की कुल 1574 कॉपियों के पुनर्मूल्यांकन का काम दो अक्तूबर 2019 को पूरा कर लिया गया. जेपीएससी द्वारा उपलब्ध नहीं कराये जाने की वजह से कुल 80 कॉपियों का पुनर्मूल्यांकन नहीं कराया जा सका. इसमें से 78 कॉपियां जेपीएससी-2 की और दो कॉपियां जेपीएससी-1 की सिविल सेवा परीक्षा से संबंधित हैं. जेपीएससी ने सिविल सेवा परीक्षा-2 की 78 में से 10 विषयों की 75 कॉपियों के अलावा तीन अन्य कॉपियां उपलब्ध नहीं करायीं....

फोटो - http://v.duta.us/ZNYu5wAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/3ROQ-QEA

📲 Get Ranchi News on Whatsapp 💬