डाटा नहीं सुधरा तो फसल बीमा के लाभ से वंचित होंगे 45 हजार किसान

  |   Maharajganjnews

सिस्टम की लापरवाही, झेलेंगे 45 हजार किसान

महराजगंज। खरीफ सीजन-2019-20 में लगभग 45 हजार किसानों का डाटा पोर्टल पर मेल नहीं खा रहा है। इसके चलते जिले में सक्रिय 72 हजार केसीसी धारकों में अब तक लगभग 27 हजार का डाटा ही मिल रहा है। किसानों के अभिलेखों में इस असमानता के चलते ऐसे किसान फसल बीमा के लाभ से वंचित रह सकते हैं।

जिले में कुल 90 हजार केसीसी धारक हैं। इसमें 18 हजार केसीसी धारक ऐसे हैं जिनका ऋण लेने के बाद बैंकों से लेनदेन ठीक नहीं है। इन केसीसी धारकों का खाता एनपीए (नान परफार्मिंग एसेट) हो चुका है। शेष बचे 72 हजार केसीसी धारकों के अभिलेखों का पोर्टल से मिलान कर उसे सही कराना है। यह भी निर्देश है कि यदि किसी अभिलेख में कोई समस्या हों तो उसे दुरुस्त कराई जाए। बैंक ने अब तक 27 हजार खातों का मिलान कर पोर्टल पर रिपोर्ट जारी कर दी है। लेकिन अब भी जिले के 45 हजार किसानों के अभिलेखों का मिलान बाकी है। किसानों का पोर्टल पर जो डाटा फीड किया गया है उसमें आधार संख्या में गड़बड़ी है। इसे सुधारने के लिए बैंकों कोई कदम नहीं उठाया जा रहा है। मार्गदर्शी बैंक के मुख्य प्रबंधक एसके श्रीवास्तव ने बताया कि बैंक के जिम्मेदार संबंधित बैंकों से जुड़े किसानों का सही डाटा शीघ्र फीड कराना सुनिश्चित करें। ऐसा न करने पर बड़ी संख्या में किसान फसल बीमा के लाभ से वंचित हो जाएंगे।...

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/vwDFXQAA

📲 Get Maharajganj News on Whatsapp 💬