तारकोल नहीं डालने से नाराज लोगों ने लगाया जाम

  |   Udhampurnews

मजालता। दसियां से सैल गांव की ओर जाने वाली 7 किलोमीटर लंबी सड़क पर 11 वर्ष बाद भी तारकोल ना डाले जाने से नाराज लोगों ने बुधवार को धार रोड पर जाम लगाया। नाराज लोगों ने स्थानीय पूर्व विधायक और पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों के खिलाफ नारेबाजी की। करीब 2 घंटे तक चले प्रदर्शन को शांत करने के लिए तहसीलदार और पीडब्ल्यूडी के अधिकारी मौके पर पहुंचे।

बुधवार की सुबह सरपंच, पूर्व सरपंच, पंच व स्कूली छात्र धार सड़क पर एकत्र होकर धरना देकर बैठ गए। उनकी मांग थी कि दसियां से सैल गांव की ओर जाने वाली सड़क पर तारकोल डाला जाए। प्रदर्शनकारियों का कहना था कि वर्ष 2008 से लेकर आज तक इस सड़क की अनदेखी की जा रही है। जिस कारण इस सड़क पर से होकर अपने घरों व सरकारी कार्यालयों में जाने वाले अधिकारियों के भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। गुस्साए प्रदर्शनकारियों ने स्थानीय पूर्व विधायक व पीडब्ल्यू डी विभाग के अधिकारियों के खिलाफ भी जमकर रोष प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों का आरोप था कि पूर्व विधायक अपनी पंचायत की सड़क पर आज तक तारकोल नहीं डलवा पाए तो वह अन्य विधानसभा क्षेत्र की सड़कों का विकास भला कैसे करवाएंगे। दो घंटे तक चले रोष प्रदर्शन को दौरा धार सड़क के दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतारें लग गई ओर यात्रियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। मौके पर पहुंचे तहसीलदार मजालता व पीडब्ल्यू डी विभाग के अधिकारियों ने प्रदर्शनकारियों को आश्वासन दिया कि एक सप्ताह के भीतर ही सड़क पर तोरकोल डालने का कार्य शुरू करवा दिया जाएगा। इसके बाद प्रदर्शनकारी शांत हुए धरना खत्म कर अपने घरों को लौटे। इस अवसर पर निर्मल केसर, सरपंच मोहन लाल शर्मा, सरपंच रत्न लाल, पूर्व सरपंच कुलदीप सिंह, सरपंच फिरोजदीन, पूर्व सरपंच राज कुमार, पंच पवन कुमार, सुरेश कुमार सहित अन्य मौजूद थे।

फोटो - http://v.duta.us/l1ue1gAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/4fX7wwAA

📲 Get Udhampur News on Whatsapp 💬