निर्जला व्रत रखकर करेंगी पति की पूजा

  |   Mandlanews

मंडला। आज सुहागिनें जहां अपने सुहाग की सलामती के लिए निर्जला व्रत रखेंगी तो दूसरी ओर युवतियां अपने मनपसंद वर की प्राप्ति के लिए चंद्रदेव से प्रार्थना करेंगी और चांद देखकर ही सुहागिने और युवतियां अपना व्रत तोड़ेंगी। करवा चौथ व्रत के एक दिन पूर्व बुधवार को बाजार में महिलाओं ने जमकर खरीददारी की। रंगीन आकृतियों से सजाए गए करवा की कीमत २५ रुपए से ३४० रुपए तक रही। इस बार करवा चौथ 17 अक्टूबर को कार्तिक माह के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को कृत्तिका नक्षत्र में शुरू होकर रोहिणी नक्षत्र में समाप्त होगा।

इस दिन चंद्रोदय रात्रि में लगभग 8:१८ पर होगा, जिसका मान अलग-अलग स्थानों पर भिन्न हो सकता है। पंडित लक्ष्मीकांत द्विवेदी ने बताया कि मान्यता है कि 27 नक्षत्र चंद्रमा की 27 पत्नियां हैं, जिसमें से रोहिणी उन्हें विशेष प्रिय है जिस पर चंद्रदेव अपना सारा प्यार और स्नेह उड़ेल देना चाहते हैं। इसीलिए रोहिणी नक्षत्र में पत्नी द्वारा पूजा और चंद्रदर्शन पति की दीर्घायु, स्वास्थ्य और संपन्नता के लिए विशेष फलदायी होता है। इस बार मंगल भी चंद्रमा के अन्य नक्षत्र हस्त में स्थित है जिसके कारण चंद्रदेव मंगल की अजेय शक्ति भी अपने साथ लिए हुए हैं।...

फोटो - http://v.duta.us/pydYvwAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/gG0plQAA

📲 Get Mandla News on Whatsapp 💬