पुलिस ने रोका जुलूस तो छात्रों ने किया हंगामा और पथराव

  |   Ghazipurnews

गाजीपुर। सदर कोतवाली क्षेत्र के स्टेशन रोड पर बुधवार को दिन में उस समय अफरा-तफरी मच गई, जब पुलिस ने छात्रों के नामांकन जुलूस को धारा-144 का हवाला देते हुए रोक दिया। इसको लेकर छात्रों और पुलिस में तीखी झड़प़ होने लगी। आक्रोशित छात्र भड़क गए और हंगामा करने लगे। पुलिस ने लाठियां पटक कर छात्रों को खदेड़ा। इस दौरान छात्रों ने पुलिस पर पथराव भी किया। पुलिस ने किसी तरह से मामले को शांत कराया। पुलिस ने आठ छात्रों को गिरफ्तार किया। उनका शांति भंग में चालान कर दिया।

बुधवार को स्वामी सहजानंद स्नातकोत्तर महाविद्यालय और पीजी क ॉलेज में छात्रसंघ चुनाव के लिए नामांकन होना था। इसको देखते हुए धारा-144 लागू थी। पुलिस ने छात्र नेताओं को सख्त हिदायत दिया था कि वह जुलूस नहीं निकालेंगे। पीजी कॉलेज के एक अध्यक्ष पद के प्रत्याशी के समर्थकों द्वारा सिटी रेलवे स्टेशन से सुबह से जुलूस निकालने की तैयारी की जाने लगी थी। इस पर वहां पहुंची पुलिस ने उन्हें जुलूस निकालने से मना किया था। बावजूद इसके छात्र नेता समर्थकों के साथ जुलूस लेकर स्टेशन परिसर से रवाना हुए। दर्जनों वाहनों के काफिले के साथ जैसे ही जुलूस स्टेशन रोड होते हुए लंका तिराहा पर पहुंचा, पुलिस ने रोक दिया और कहा कि जुलूस निकालने की अनुमति नहीं है। इसको लेकर एक पूर्व छात्र नेता से पुलिस अधिकारियों से बहस होने लगी। मामला शांत होने के बजाय बढ़ता ही गया। इसी दौरान छात्र हो-हल्ला करते हुए हंगामा करने लगे। पुलिस की संख्या कम थी, जबकि छात्रों की अधिक। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस ने लाठियां पटकना शुरू किया। इससे छात्र हो-हल्ला के बीच इधर-उधर भागने लगे। अफरा-तफरा मच गई। आसपास की दुकानें बंद हो गईं। पुलिस ने आठ छात्रों को गिरफ्तार कर लिया। जुलूस में शामिल वाहनों को सड़क पर ही छोड़ कर छात्र तिराहा से कुछ दूरी पर स्थित एक राजनीतिक दल के कार्यालय के पास जाकर रुक गए और वहीं से पुलिस को ललकारने लगे। सदर एसडीएम सत्यप्रिय सिंह लाउडस्पीकर से छात्रों से शांति व्यवस्था कायम करने की अपील करने लगे। इसी दौरान छात्रों ने पुलिस पर ईंट-पत्थर फेंकना शुरू कर दिया, लेकिन पुलिस धैर्य का परिचय देते हुए शांत खड़ी रही। करीब आधा घंटा बाद मार्ग पर खड़े वाहनों को छात्रों ने हटाया। इसके बाद पुलिस ललकारते हुए आगे बड़ी और छात्र वहां से फरार हो गए। इस संबंध में क्षेत्राधिकारी डा. तेजवीर सिंह ने बताया नामांकन जुलूस निकालने की अनुमति नहीं थी। फिर भी छात्र निकाल रहे थे। ऐसा करने से रोकने पर उन्होंने हंगामा शुरू कर दिया। हल्का बल प्रयोग कर उन्हें खदेड़ा गया। उपद्रवी छात्रों ने पथराव किया। हालांकि कोई घायल नहीं हुआ। बताया कि गिरफ्तार पूर्व छात्र नेता अमरजीत यादव, महामंत्री पद के प्रत्याशी राजू पांडेय, मटरू यादव सहित पांच गिरफ्तार किए गए छात्रों का शांति भंग में चालान किया गया।

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/5jdVUgAA

📲 Get Ghazipur News on Whatsapp 💬