बांसवाड़ा : अदने कर्मचारी इसलिए चार महीने से कोई नहीं सुन रहा रसोइयों की, अब मानदेय मिले तो मनेगी दिवाली

  |   Banswaranews

बांसवाड़ा. राज्य सरकार की मिड डे मील योजना में जिले के स्कूलों में लगे रसोइये तीन-चार माह से मानदेय के लिए तरस रहे हैं। दिवाली आने में महज 10 दिन बाकी हैं। रसोइए मानदेय के लिए विभाग से गुहार लगा रहे हैं, लेकिन इनकी पुकार को न तो विभाग सुन रहा है और न ही सरकार।

पत्रिका ने पड़ताल की तो सामने आया कि प्रारंभिक और माध्यमिक शिक्षा विभाग की ओर से जिले में उच्च माध्यमिक स्तर के 360 विद्यालयों का संचालन किया जा रहा है। इनमें 3-3 रसोइयें है। माध्यमिक स्तर के 79 स्कूल हैं औरइनमें भी तीन-तीन खाना पकाने वाले हैं। उच्च प्राथमिक स्तर की 456 विद्यालय हैं, जहां दो दो रसोइयें कार्यरत हैं। 1701 प्राथमिक विद्यालय हंै जहां एक एक रसोइया काम करता है। इस तरह से कुल 4386 रसोइये इन विद्यालयों में कार्यरत हैं। जिनका प्रतिमाह मानदेय के रूप में 1320 रुपए प्रति रसोइये के हिसाब से एक माह का 57 लाख 89 हजार 520 रुपए और यही राशि तीन माह की एक करोड़ 73 लाख 68 हजार 560 रुपए होती है।...

फोटो - http://v.duta.us/zk1xOQAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/S9rkqwAA

📲 Get Banswara News on Whatsapp 💬