मंडी वीरान, किसानों को बाजार में बेचनी पड़ रही फसल

  |   Jhabuanews

राणापुर. प्रदेश में कई जगहों पर रोजाना मंडी में व्यापार होता है। जहां पर वहां किसानों को उनकी उपज का सही दाम सहित तोल मिलता है, लेकिन झाबुआ जिले में जिला मुख्यालय एवं राणापुर मंडियों पर मंडियों रसूखदारों ने कब्जा कर रखा है । मंडी चालू नहीं होने से किसानों को अपनी उपज का सही मूल्य नहीं मिल पाता है और मजबूर किसान अपने आर्थिक स्थिति के कारण बाजार में व्यापारी को कम दाम में अपनी उपज बेच देता है। राणापुर उप मंडी वीरान पड़ी है।

भारी बारिश से नुकसान के बाद मंडी में बची खुची फसल बेचने आए किसान बाजार में कम दामों में फसल बेच रहे हैं। मंडी के यह हाल है कि साल के 10 महीने मंडी वीरान पड़ी रहती है। किसी प्रकार का कोई व्यापार नहीं होता। जबकि साल में केवल 2 महीने ही मंडी में व्यापार किया जाता है। इसमें भी केवल हफ्ते एक दिन शनिवार बाज़ार के दिन मंडी चलाई जाती है। बाकी 10 महीनों में फ सलें किसान मजबूरी में खुले बाजार में व्यापारियों की प्रतिष्ठानों पर कम भाव में माल को बेच देता है। बाजार में व्यापारी किसानों को उनकी उपज का उचित भाव नहीं देते और मजबूर किसान अपनी आर्थिक स्थिति को देखते हुए जो व्यापारी उपज की रकम देता है उसे ले लेता है।...

फोटो - http://v.duta.us/FHK1rAAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/CA_rWAAA

📲 Get Jhabua News on Whatsapp 💬