राजस्व परिषद की साइट ने दिया हसेरन को तहसील का दर्जा

  |   Kannaujnews

कन्नौज। राजस्व परिषद ने उस काम को कर दिया, जिसका इंतजार सालों से हसेरन और इससे जुड़े क्षेत्र के लोग कर रहे थे। यानी परिषद ने हसेरन को तहसील का दर्जा देकर इसे अपनी वेबसाइट पर दर्ज कर दिया। वसूली प्रमाणपत्र, खतौनी, साइट मैप, बीमा योजना या अन्य किसी जानकारी के लिए कन्नौज जिले की तहसीलों में जाते हैं तो अब तीन नहीं बल्कि चार तहसीलों के विकल्प खुलकर सामने आते हैं। करीब एक-डेढ़ महीने से वेबसाइट पर हसेरन तहसील भी दिखने से ऐसा हो रहा है। हकीकत जुदा है। जमीन पर अभी कुछ भी नहीं है।

2013 में सपा सरकार में तत्कालीन कैबिनेट मंत्री शिवपाल सिंह यादव ने कन्नौज में एक कार्यक्रम के दौरान हसेरन को तहसील का दर्जा देने की घोषणा की थी। इस घोषणा के बाद जिला प्रशासन के स्तर पर तेजी से काम चालू किया गया। शासनादेश भी जारी हुआ। मामला अंतिम छोर तक पहुंचता इससे पहले ही विवाद शुरू हो गए। विवाद तहसील मुख्यालय के स्थान को लेकर शुरू हुआ। सौरिख और सकरावा के लोगों की मांग थी कि जिस तरह सौरिख ब्लाक का कार्यालय खड़िनी में बना है, उसी तरह हसेरन तहसील का मुख्यालय भी खड़िनी में बने।...

फोटो - http://v.duta.us/VxeytgAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/thAS_wAA

📲 Get Kannauj News on Whatsapp 💬