लोकतंत्र का सबसे महत्वपूर्ण काम यहां सबसे सुस्त

  |   Jabalpurnews

जबलपुर। लोकतंत्र का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा मतदान होता है। लेकिन, जबलपुर जिले के अफसर मतदाताओं को खास तवज्जो नहीं दे रहे हैं। हालत यह है कि जबलपुर जिले में मतदाता सत्यापन का सुस्त चाल चल रहा है। कहने तो यहां 18 लाख 19 हजार 920 मतदाता हैं। लेकिन, अभी तक करीब 1 लाख 34 हजार 139 मतदाताओं का सत्यापन हो सका है। यह मात्र सात फीसदी है। सत्यापन के काम को पूरा करने के लिए मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी मप्र के द्वारा 15 अक्टूबर की तिथि तय की थी। एक माह बीतने पर भी यह काम पूरा नहीं हुआ। इसलिए अब 18 नवम्बर तक का वक्त दिया गया है। इस काम के लिए कई माध्यम बनाए गए हैं। बीएलओ को खुद इसमें काम करना है। मतदाता भी इसका सत्यापन कर सकता है। इसके लिए निर्वाचन आयोग के मोबाइल एप की सहायता ली जा सकती है। इसके बाद भी यह काम पूरा नहीं हो सका है। इसी आधार पर निर्वाचक नामावली का अंतिम प्रकाशन किया जाना है। इसका उपयोग आगामी नगरीय निकाय चुनाव में होगा।...

फोटो - http://v.duta.us/VQxzggAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/Bhh4iwAA

📲 Get Jabalpur News on Whatsapp 💬