विधायक 😱व डॉन बनने की चाह में कराई थी बसपा 🔪नेता की हत्या

  |   Hindielections / समाचार

बिजनौर जिले में नजीबाबाद के बसपा नेता हाजी अहसान व उनके भांजे शादाब की हत्या शाहनवाज ने नजीबाबाद का डॉन और विधायक बनने की चाहत में कराई थी। शाहनवाज अहसान को रास्ते से हटाकर जमीनों पर कब्जे करना चाहता था। साथ ही बड़े लोगों से रंगदारी मांगने का उसका इरादा था। इसके लिए हाजी अहसान और उनके भांजे की हत्या कराई गई। पुलिस ने हाजी अहसान की हत्या करने वाले शूटर दानिश के अलावा मुखबिरी करने वाले समेत तीन लोगों को दबोचा है। दानिश के पास से पिस्टल व कारतूस बरामद हुए हैं।

एसपी संजीव त्यागी के मुताबिक 25 मई को नजीबाबाद में शॉपिंग कांप्लेक्स के कार्यालय में हाजी अहसान व उनके भांजे शादाब की गोलियों से भूनकर हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने गांव उब्बनवाला निवासी दानिश को तीन जून को दबोच लिया था। इस हत्याकांड में गांव कनकपुर कला निवासी शाहनवाज अंसारी, दानिश व जलालाबाद निवासी जब्बार अंसारी के हत्या करने में नाम प्रकाश में आए। शाहनवाज, दानिश व जब्बार पर 25-25 हजार रुपये का इनाम घोषित कर दिया गया। नजीबाबाद पुलिस के अलावा स्वॉट व सर्विलांस टीम इन बदमाशों की तलाश में जुटी थी।

रेंडम चेकिंग के दौरान पुलिस ने मंगलवार को दानिश को दबोच लिया। पूछताछ में दानिश ने बताया कि किरतपुर थाने के गांव मुस्सेपुर निवासी मुकीम, गांव उब्बनवाला निवासी इकरार, नजीबाबाद के मोहल्ला पठानपुरा जाब्तागंज निवासी खुर्शीद, आसिफ, गांव कनकपुर निवासी दानिश पुत्र तौकीर, शाहआलम, सफरूद्दीननगर निवासी अफजाल, शाहनवाज की पत्नी रूखसाना उर्फ शानुम, जलालाबाद निवासी दाऊद, गांव अलावलपुर निवासी इरशाद, मोहल्ला अमाननगर निवासी हाजी नासिर, नजीबाबाद निवासी फईम वकील, गांव राहूखेड़ी निवासी जब्बार का इस हत्याकांड में हाथ रहा है। पुलिस ने मुखबिरी करने वाले खुर्शीद व दाऊद को गिरफ्तार कर लिया है।

यहां पढे़ं पूरी खबर -http://v.duta.us/x26FCwAA

📲 Get समाचार on Whatsapp 💬