शिक्षा का उद्देश्य बच्चों को संस्कारवान व विचारवान बनाना

  |   Shivpurinews

शिवपुरी. उच्च शिक्षा विभाग के निर्देश पर श्रीमंत माधवराव सिंधिया स्नातकोत्तर महाविद्यालय में चल रही अंतरकक्षा युवा उत्सव प्रतियोगिता का बुधवार को समापन हुआ। प्रतियोगिता के समापन अवसर पर डॉ. पदमा शर्मा ने कहा कि शिक्षा का उद्देश्य अध्ययन के साथ युवाओं को संस्कारवान और विचारवान बनाना भी है। इसलिए विद्यार्थियों के सम्पूर्ण विकास के लिए उच्च शिक्षा विभाग के निर्देशानुसार युवा उत्सव का आयोजन किया जाता है। अध्यक्ष की आसंदी से डॉ. यूसी गुप्ता ने कहा कि युवाओं के व्यक्तित्व के चहुंमुखी विकास के लिए युवा उत्सव का आयोजन किया जाता है, जिससे युवा अपने क्षेत्र की सांस्कृतिक विरासत को पहचानें। ऐसे उत्सव कला और संस्कृति को बढ़ावा देते हैं। प्राचार्य प्रो. महेंद्र कुमार ने कहा कि युवा उत्सव विद्यार्थियों में मेलजोल बढ़ाता है और भाईचारे के भावना विकसित करता है। साथ ही इसके द्वारा विद्यार्थियों में प्रतिभा का विकास होता है। कार्यक्रम का संचालन और आभार प्रदर्शन डॉ. रामजीदास राठौर ने किया। कार्यक्रम में स्टाफ सहित बहुत संख्या में छात्र-छात्राएं उपस्थित रहे।...

फोटो - http://v.duta.us/cUWsTQAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/lIFVKwAA

📲 Get Shivpuri News on Whatsapp 💬