सीताफल : कांकेर वैली फ्रेश है बेहद खास, स्वादिष्ट के साथ ही पौष्टिक भी

  |   Raipurnews

रायपुर. सीताफल या शरीफा (sharifa) को आयुर्वेद में चमत्कारी गुण वाला फल कहा गया है। दीपावली पर्व (deepawali) में भी सीताफल का खास महत्व है। छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित कांकेर जिले (kanker naxal) के सीताफल की अपनी अलग विशेषता है।

कांकेर वैली फ्रेश सीताफल (sitafal) ब्रांड के नाम से फेमस इस फल की देशभर में मांग है। इसकी मिठास और स्वाद इतना बढिय़ा है कि सीजन में सीताफल को हर कोई चखना चाहता है। सीताफल जितना मीठा है, उतना ही स्वादिष्ट ( delicious) और पौष्टिक (nutritious) भी है।

ऑर्गेनिक सीताफल

सीताफल का उत्पादन छत्तीसगढ़ (chhattisgarh) के अन्य जिलों में भी होता है लेकिन कांकेर जिले का यह सीताफल प्रसिद्ध है। यहां प्राकृतिक रूप से उत्पादित सीताफल के 3 लाख 19 हजार पौधे हैं। जिससे प्रतिवर्ष अक्टूबर से नवम्बर तक 6 हजार टन सीताफल का उत्पादन होता है। यहां के सीताफल के पौधों में किसी भी प्रकार की रासायनिक खाद या कीटनाशक का प्रयोग नहीं किया जाता है। यह पूरी तरह जैविक (organic) होता है। इसलिए यह ऑर्गेनिक (organic) सीताफल स्वादिष्ट ( delicious) होने के साथ पौष्टिक (nutritious) भी होता है।...

फोटो - http://v.duta.us/S1QcBQAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/nBzeXAAA

📲 Get Raipurnews on Whatsapp 💬