सात आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद परिजनों ने उठाया युवक का शव

  |   Karnalnews

गांव शेखपुरा में युवक की गोली मारकर हत्या करने के मामले में दोपहर तक परिजनों ने असंध के वाल्मीकि मंदिर में धरना देकर प्रशासन के खिलाफ रोष प्रकट किया। इस दौरान लोकतंत्र सुरक्षा मंच के सुप्रीमो राजकुमार सैनी भी धरना स्थल पर पहुंचे। दोपहर बाद डीएसपी दलबीर सिंह ने सात आरोपियों की गिरफ्तार के बारे में परिजनों को बताया और फिर परिजनों ने मृतक का शव उठाकर संस्कार किया। एसडीएम अनुराग ने बताया कि मृतक के परिजनों को सहायता राशि के रूप में चार लाख और घायलों को 25-25 हजार रुपये दी जाएगी।

वहीं, दूसरी ओर गांव में भी पूरा दिन तनाव का माहौल बना रहा। पुलिस भी दिनभर गांव में तैनात रही। इस दौरान मृतक के परिजनों ने पुलिस पर आरोप लगाया कि पुलिस काफी दबाव में काम कर रही है। दो दिन बीतने के बाद आरोपियों को गिरफ्तार किया। बता दें गांव शेखपुरा में तीन दिन पहले वाल्मीकि समाज के लोगों ने गांव में महर्षि वाल्मीकि की जयंती पर शोभा यात्रा निकाली थी। इस दौरान आरोपियों ने विरोध किया था और कहासुनी भी हुई थी। इसके बाद सोमवार को आरोपी हरप्रीत बिट्टू की रेहड़ी पर अंडे उधार लेने आया। तो उसने उधार में अंडे देने से मना कर दिया। इसके बाद हरप्रीत धमकी देकर वहां से चला गया। इसके बाद बिट्टू गांव में रात को वाल्मीकि चौपाल में जाकर बैठ गया तो वहीं आरोपी हरप्रीत, अजयपाल, हरविंद्र, जितेंद्र, हरदीश उर्फ हीरा, मगनदीप सिंह, कर्मजीत सिंह, सहित 12 लोगों ने पिस्तौल, तेजधार हथियार से हमला कर दिया। आरोपियों ने अंकित को गोली मार दी। उसकी मौके पर ही मौत हो गई। इसके बाद उन्होंने उसे और उसके साथी रवि को तेजधार हथियार से घायल कर दिया। इसके बाद परिजनों ने मंगलवार को अस्पताल में धरना दिया और आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की थी।...

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/gX_i_wEA

📲 Get Karnal News on Whatsapp 💬