सरकार को केवल हिंदू मठ मंदिरों की व्यवस्था की ही चिंता क्यों- डाॅ. अवधेशपुरी महाराज

  |   Ujjainnews

उज्जैन। भारतीय संविधान के अनुसार किसी भी सरकार को किसी भी धर्म के धर्मस्थलों के अतिक्रमण का अधिकार नहीं है। क्योंकि धार्मिक स्थलों की व्यवस्थाएं उन धार्मिक परंपराओं एवं संस्कृतियों के आधार पर होती हैं और किसी भी धर्म की परंपराएं एवं संस्कृति उस धर्म के अनुयायियों की धार्मिक स्वतंत्रता का अधिकार है कि वह अपने धर्मस्थलों का संचालन अपनी मान्यताओं एवं परंपराओं के आधार पर करें। किंतु देखने में आ रहा है कि सरकार अन्य किसी भी धर्म के धार्मिक स्थलों के व्यवस्था एवं अन्य प्रबंधन की चिंता न कर केवल हिंदू मठ मंदिरों की व्यवस्था एवं आय के प्रबंधन की चिंता पालती नजर आ रही है जो कि धार्मिक असमानता का आचरण सिध्द होता है। यदि सरकार को अधिग्रहण ही करना है तो समस्त धर्मों के धार्मिक स्थलों का करना चाहिये किसी एक ही धर्म के सिध्दांतों पर प्रहार नहीं करना चाहिये।...

फोटो - http://v.duta.us/BwviFAAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/HX5qLwEA

📲 Get Ujjain News on Whatsapp 💬