चंद्रयान 2: नासा के 👉मून ऑर्बिटर ने ली लैंडिंग साइट की 👏नई तस्वीरें

  |   Hindielections / समाचार

चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम का 7 सितंबर को चांद की सतह पर लैंडिंग से ठीक पहले संपर्क टूट गया था। इसके बाद, इसरो ने कई दिनों तक लैंडर से संपर्क स्थापित करने की कोशिश की थी, लेकिन इसमें कामयाबी नहीं मिल सकी थी। वहीं, अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा ने पिछले महीने लैंडिंग साइट की तस्वीरें भी जारी करते हुए कहा था कि चंद्रयान-2 के लैंडर की 'हार्ड लैंडिंग' हुई थी, जब चांद की सतह पर सॉफ्ट लैंडिंग के प्रयास के दौरान उसका संपर्क टूट गया था।

इसके कई दिनों बाद एक बार फिर नासा के मून ऑर्बिटर ने लैंडिंग साइट की तस्वीरें ली हैं जहां विक्रम ने सॉफ्ट लैंडिंग की कोशिश की थी। चांद की सतह पर लैंडिंग साइट की बेहतर रोशनी में ली गई तस्वीरों से चंद्रयान -2 के लैंडर की मौजूदगी को लेकर उम्मीद जग गई हैं।

इसके पहले भी नासा ने लैंडिंग साइट की तस्वीरें जारी की थी, लेकिन लैंडर विक्रम के बारे में पता नहीं चल सका था। तब नासा के वैज्ञानिकों ने कहा था कि चांद पर रात हो चुकी है, इसके चलते ज्यादातर सतह पर केवल परछाई ही दिख रही है। ऐसे में हो सकता है लैंडर किसी परछाई में छिप गया हो।

पिछले महीने सितंबर में, नासा के ऑर्बिटर ने विक्रम लैंडर की तस्वीरें तब ली थीं जब यह उस जगह से गुजर रहा था जहां विक्रम लैंडर की लैंडिंग हुई थी। नासा की तरफ से इसके बाद कहा गया था कि अक्टूबर में दक्षिणी ध्रुव से अंधेरा छंटने के बाद एक बार फिर अपने लूनर रिकॉनिस्सेंस ऑर्बिटर के कैमरे से विक्रम की लोकेशन जानने और उसकी तस्वीरें लेने की कोशिश करेगा। अब वे तस्वीरें नासा के मून ऑर्बिटर ने कैप्टर की हैं, जो पहले से बेहतर रोशनी में ली गई हैं, इस तस्वीरों का फिलहाल अध्ययन किया जा रहा है।

यहां पढें पूरी खबर - http://v.duta.us/vufYjgAA

फोटो - http://v.duta.us/YxxmagAA

📲 Get समाचार on Whatsapp 💬