Dargah Security-खानाबदोश बन सकते हैं 'खतरा

  |   Ajmernews

अजमेर. दरगाह परिसर और उसके आसपास घूमने वाले खानाबदोश दरगाह सुरक्षा के लिए खतरा हैं। खानाबदोशी की आड़ में घूमने वाले संदिग्धों से निपटने के लिए ही पुलिस की ओर से 24 घण्टे में एक बार दरगाह परिसर को खाली करने व तलाशी के बाद यहां आए जायरीन को जांच, पड़ताल के बाद प्रवेश देने की व्यवस्था कायम की गई है। मंगलवार रात दरगाह थानाप्रभारी हेमराज के नेतृत्व में पुलिस दल ने दरगाह परिसर को खाली करवाया। हालांकि इस दौरान पुलिस को ऐसा कुछ भी अप्रिय नजर नहीं आया जो सुरक्षा के लिहाज से संदिग्ध हो।

पुलिस व खुफिया जांच एजेंसियों का मानना है कि विश्वविख्यात ख्वाजा साहब की दरगाह की सुरक्षा में सबसे बड़ा खतरा यहां आसपास के क्षेत्र में खानाबदोशी जिन्दगी बसर करने वाले लोग हंै। इन खानाबदोश लोगों की आड़ में कई मर्तबा संदिग्ध, अपराधी तत्व व घुसपैठिए पनाह पा जाते हैं। दरगाह सुरक्षा के लिए स्थानीय पुलिस व सुरक्षा एजेंसियां पूर्व में भी कई मर्तबा चौबीस घंटे में एक बार परिसर खाली कराने और संदिग्धों व्यक्तियों से पूछताछ की कार्ययोजना बना चुकी हैं लेकिन किसी न किसी विरोध के चलते व्यवस्था लागू नहीं की जा सकी। लेकिन बीते कुछ साल से सुरक्षा एजेंसियों ने अजमेर में दरगाह की सुरक्षा को बड़ा सवाल बना रखा था। गतदिनों दरगाह कमेटी अध्यक्ष अमीन पठान ने भी गृह विभाग से दरगाह सुरक्षा को लेकर चिंता जाहिर करते हुए सीआईएसएफ की तैनाती की मांग की थी। इसके बाद से लगातार सुरक्षा एजेंसियों की नजर दरगाह सुरक्षा पर थी।ठहरने की नहीं है व्यवस्थापुलिस अधिकारियों की माने तो दरगाह परिसर में सैकड़ों ऐसे व्यक्ति हैं जो बिना पहचान के कई-कई दिन से जमे हुए हैं। उन्होंने दरगाह को अपना ठिकाना(बसेरा) बना लिया, जबकि दरगाह में ठहरने की कोई व्यवस्था नहीं है। ऐसे में यहां लगातार ठहरने वाले अनजान व्यक्ति को चौबीस घंटे में एक मर्तबा बाहर निकालने और उसे तलाशी व तस्दीक के बाद पुन: प्रवेश की व्यवस्था कायम करने के लिए सर्च व्यवस्था लागू की गई है।...

फोटो - http://v.duta.us/FswymwAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/tVGZCwAA

📲 Get Ajmer News on Whatsapp 💬