Honey Trap: अंग्रेजी बोला तो हिंदी लिख रही थी आरती, वाइस टेस्ट में भी किए नाटक

  |   Indorenews

इंदौर। हनी ट्रेप मामले की आरोपित आरती और श्वेता की पुलिस ने कल लिखावट और आवाज के नमूने लिए हैं। बताया जाता है कि आरती को जब लाया गया तो उसने पहले तो काफी नाटक किए। टीम हिंदी लिखने का बोल रही थी तो वह अंग्रेजी लिख रही थी। हिंदी का बोला तो अंग्रेजी लिख रही थी।

कल दोपहर के लगभग पलासिया टीआई शशिकांत चौरसिया टेक्नीकल टीम के साथ में जिला जेल पर पहुंचे पर पहुंचे थे। पुलिस टीम के आने के बारे में जेल के स्टाफ ने उन्हें नहीं बताया था। टीम ने औपचारिकताएं पूरी करने के बाद पहले आरती को बुलाया। आरती को जब बताया गया कि पुलिस उसकी हैंडराइटिंग और वाइस टेस्ट के लिए आई तो वह नाटक करने लगी। पहले तो वह कुछ भी लिखने के लिए तैयार ही नहीं थी। इस पर पुलिस ने साफ किया कि उनके पास में गवाह है। वह कोर्ट को बता देंगे कि जांच में सहयोग नहीं किया गया। इसके बाद वह लिखने के लिए तो तैयार हुई, लेकिन ठीक से लिख नहीं रही थी। वह चाह रही थी कि अपनी हैंडराइटिंग में कुछ ऐसा न लिखे, जिससे पुलिस को सबूत मिल जाए। उसे हिंदी का बोलने पर अंग्रेजी और अंग्रेजी बोलने पर हिंदी लिखने का नाटक कर रही थी। वाइस टेस्ट में भी उसने नाटक किया। वह धीरे-धीरे बोल रही थी, लेकिन पुलिस ने उसके सैंपल ले लिए हैं। पुलिस को उसकी टैक्नीकल और आरती के नाटक के कारण काफी समय लग गया था। इससे पहले पुलिस ने आरती के सामने ही सील्ड मैमोरी कार्ड खोले ताकि बाद में वह पुलिस पर सबूत फ्रेम करने का आरोप न लगा सके। वहां पर जेल का स्टाफ भी मौजूद था। आरती के टेस्ट के बाद श्वेता विजय जैन को लाया गया। उम्मीद की जा रही थी कि वह नाटक करेगी, लेकिन श्वेता ने आराम से सारे सैंपल दे दिए। दोपहर में आई पुलिस टीम पांच बजे के करीबन सारे सैंपल लेकर लौटी।

फोटो - http://v.duta.us/QwOHjgAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/zA9WdAAA

📲 Get Indore News on Whatsapp 💬