अधिकारियों ने किया मठासौन, बड़ासौर का दौरा

  |   Kullunews

कुल्लू। सरकार ने लगघाटी के अनछुए पर्यटन स्थलों को विकसित करने का निर्णय लिया है। इसे लेकर वन विभाग के अधिकारियों ने घाटी केे मठासौर और बड़ासौर का दौरा किया। इस दौरान पर्यटन विकास समिति के पदाधिकारी भी मौजूद रहे।

क्षेत्र में ब्रिटिश शासन काल के दौरान घाटी में बना पैदल रस्ता अपना अस्तित्व खो चुका है, उसका पुनर्निर्माण कर सैलानियों की सैरगाह के रूप में विकसित किया जाएगा। मुख्यालय से सटी होने के बावजूद लगघाटी अभी तक विकास की मुख्य धारा से नहीं जुड़ पाई है। सरकार ने घाटी के अनछुए पर्यटन स्थलों को संवारने तथा विकसित करने का निर्णय लिया है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने इसके लिए विभागाधिकारियों की भी दिशा-निर्देश दिए हैं। जिला भाजपा के मीडिया प्रभारी खुशहाल सिंह राठौर ने कहा कि सरकार घाटी के लोगों को मूलभूत सुविधाएं देने के साथ-साथ पर्यटन की ओर से क्षेत्र के लोगों की आर्थिकी को भी सुदृढ़ करना चाहती है। इसी को लेकर सरकार तथा विभागों ने घाटी के अनछुए पर्यटन स्थलों को चिह्नित करने का कार्य शुरू किया है। वन विभाग के अरण्यपाल अनिल शर्मा और डीएफओ डॉ. नीरज चड्ढा ने कहा कि कुल्लू-काईसधार-कडौन रेस्ट हाउस तक पैदल मार्ग का पुनर्निर्माण किया जाएगा। इसके अतिरिक्त प्राकृतिक सुंदरता से लबरेज मठासौर तथा बड़ासौर को सड़क सुविधा से जोड़ने के लिए लोगों व विभिन्न विभागों का सहयोग लिया जाएगा। अनिल शर्मा ने कहा कि अगले सप्ताह तक विभाग की टीम गोरूडु़ग का दौरा करेगी। उधर, जिला पर्यटन विकास अधिकारी बीएस नेगी ने कहा कि विभाग विभिन्न विभागों का सहयोग लेकर लगघाटी के अनछुए पर्यटन स्थलों को विकसित कर घाटी में पर्यटन विकास को बढ़ावा दिया जाएगा। उधर लगघाटी पर्यावरण पर्यटन विकास समिति के अध्यक्ष प्रताप ठाकुर, महासचिव कुशाल, मुख्य सलाहकार हुक्कम चाहडू, उपाध्यक्ष चमन ठाकुर, मोहर ठाकुर, अभिषेक ठाकुर, सचिव रणवीर ठाकुर, अर्जन ठाकुर, सलाहकार मोहर सिंह नेगी, कोषाध्यक्ष बलवीर ने पर्यटन से घाटी में स्वरोजगार के द्वार खुलेंगे।

फोटो - http://v.duta.us/0JZQAAAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/XIXaHgAA

📲 Get Kullu News on Whatsapp 💬