उसके सामने अपने कलेजे के टुकड़े की लाश पड़ी थी और वह सुन रहा था नवजात शिशु को जीवनदान मिलने का दावा

  |   Barannews

उसके सामने अपने कलेजे के टुकड़े की लाश पड़ी थी और वह सुन रहा था नवजात शिशु को जीवनदान मिलने का दावा

अधूरा सच बताकर कर रहे भ्रमित

मृतक के पिता ने कहा, डॉक्टरों को इतनी जल्दी शाबाशी नहीं लेना चाहिए था

बारां. जिला चिकित्सालय के चिकित्सकों की ओर से मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं देकर जीवन दान देने के दावे किए जा रहे हंै, लेकिन ज्यों ही केस क्रिटिकल दिखता है मरीज को कोटा रैफर कर मरीजों के स्वास्थ्य से खिलवाड़ किया जा रहा है। इससे किसी की रास्ते में तो किसी की अस्पताल में ही मृत्यु हो रही है। हाल ही में जिला चिकित्सालय पीएमओ व एक शिशु रोग चिकित्सक ने एक नवजात शिशु को जीवन दान देने का दावा करते हुए एक सोशल मीडिया ग्रुप पर शिशु के साथ फोटो शेयर किया। इसकी वाहवाही लूटने के लिए 15 अक्टूबर को जिले में प्रचार-प्रसार भी कराया, लेकिन ज्यों ही शिशु की थोड़ी तबीयत बिगड़ी उसे यह जानते हुए भी कि उसकी मौत हो सकती है उसे मृत्यु से मात्र एक घंटा पहले कोटा रैफर कर दिया।...

फोटो - http://v.duta.us/9rVxOgAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/f1DUQwAA

📲 Get Baran News on Whatsapp 💬