तहसीलदार का नहीं चला पता, लौटी एसआईटी

  |   Sonebhadranews

सोनभद्र। घोरावल कोतवाली के उभ्भा गांव में जमीन विवाद को लेकर 11 लोगों की हुई हत्या की जांच कर रही एसआईटी को 1955 मेें राबट्र्सगंज तहसील के तहसीलदार का नाम-पता नहीं चल सका है। शनिवार को सदर तहसील और मिर्जापुर कलक्टे्रट में कइयों से तहसीलदार के बारे में पूछताछ की, लेकिन उनका पता नहीं चला। इसके बाद टीम लखनऊ वापस लौट गई।

सूत्रों की मानें तो शनिवार को उभ्भाकांड की जांच कर रही एसआईटी के इंस्पेक्टर विनोद तिवारी, सुशील उपाध्याय राबट्र्सगंज तहसील में कई कर्मियों से 1955 तहसीलदार के पद पर रहने वाला का नाम और पता के बारे मेें पूछताछ की। लेकिन कर्मियों ने यह कहते हुए पल्ला झाड़ लिया कि उस वक्त मिर्जापुर जिला था, इसलिए उनके पास तहसीलदार के संबंध में कोई रिकार्ड नहीं है। यहां एसआईटी मिर्जापुर कलक्ट्रेट पहुंच कर कई प्रशासनकि अधिकारियों से 1555 में राबट्र्सगंज तहसील के तहसीलदार के बारे में जानकारी उपलब्ध कराने की बात कहीं। घंटों प्रयास करने के बाद ळाी तहसीलदार के बारे में कोई ठोस जानकारी नहीं मिली और टीम वापस लखनऊ जाने के लिए रवाना हो गई।

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/sFRYtgEA

📲 Get Sonebhadra News on Whatsapp 💬