अलविदा ए हुसैन अलविदा...

  |   Meerutnews

मेरठ। अलविदा ए हुसैन अलविदा......अलविदा शाहे मशरकैन अलविदा... नौहे के साथ शिया सोगवारों ने चेहल्लुम पर इमाम हुसैन और कर्बला के शहीदों को अलविदा कहा। पैगंबर ए इस्लाम हजरत मोहम्मद के नवासे हजरत इमाम हुसैन और शौहदाए कर्बला का चेहल्लुम अकीदत और गमगीन माहौल में मनाया गया। घंटाघर सहित जैदी फार्म, लोहियानगर में इमामबारगाहों और अजाखानों में मजलिसें हुई और जुलूस निकाले गए।

हुसैनाबाद पूर्वा फैयाज अली स्थित अलहाज डॉ. सैय्यद इकबाल हुसैन मरहूम के अजाखाने में लखनऊ से आए मशहूर आलिम मौलाना अबू इफ्तेखार ने कहा कि हजरत इमाम हुसैन ने अपनी और 71 जानिसारों की कर्बला में शहादत पेश कर न सिर्फ दीन ए इस्लाम बल्कि पूरी इंसानियत को बचा लिया। असीराने कर्बला पर हुए जुल्मों सितम बयां किए तो हुसैनी सोगवारों की आंखें नम हो गईं। इससे पूर्व अलहाज सैय्यद शाह अब्बास सफवी ने सौजेख्वानी की। अंजुमन दस्तये हुसैनी के हुमायूं अब्बास ताबिश, दानिश मेरठी ने गमगीन नौहे पढ़े। अनवार हुसैन मरहूम व अफजाल हुसैन मरहूम के अजाखाने कोठी अतानस में भी मजलिस हुई। मनसबिया घंटाघर में आयोजित मजलिस में मौलाना इरफान हैदर की तकरीर के बाद जुलजुनाह की जियारत बरामद हुई। अंजुमन इमामिया के वाजिद अली गप्पू, चांद मियां ने पुरसौज नौहेख्वानी की।...

फोटो - http://v.duta.us/iU9zMwAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/E4NVKAAA

📲 Get Meerut News on Whatsapp 💬