शहीदों के सर्वोच्च बलिदान को न तो देश भूलेगा और ना ही सेना: सहरावत

  |   Almoranews

रानीखेत (अल्मोड़ा)। देश की सीमाओं की रक्षा करते हुए शहीदों ने सर्वोच्च बलिदान दिया है। शहीदों के इस बलिदान को न तो कभी देश भूलेगा और न ही कुमाऊं रेजीमेंट केंद्र। केआरसी के पुनर्मिलन समारोह और द्विवार्षिक बैठक के तहत आयोजित परिवार कल्याण समारोह में वीर नारियों को सम्मानित करते हुए मुख्य अतिथि कर्नल आफ दि रेजीमेंट ले. जनरल बीएस सहरावत की पत्नी सीमा सहरावत ने यह बात कही। बलिदान सम्मान देते हुए सहरावत की आंखें भी नम हो आई। इस दौरान वहां मौजूद सैन्य परिवारों की महिलाएं भी भावुक हो उठी।

परिवार कल्याण समारोह में पहुंचीं मुख्य अतिथि सीमा सहरावत, केआरसी कमांडेंट ब्रिगेडियर जीएस राठौर की पत्नी यामिनी राठौर और निशा कलिका का स्वागत सेना के बैंड ने किया। भूकांत मिश्रा हाल में रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए। सेना से जुड़ी महिलाओं ने तमाम कार्यक्रमों के माध्यम से वहां मौजूद अतिथियों का खूब मनोरंजन किया। इसके बाद वीर नारियों का सम्मान समारोह हुआ। समारोह को संबोधित करते हुए सीमा सहरावत ने पुनर्मिलन समारोह की सभी को शुभकामनाएं दी। अन्य अतिथियों ने भी शहीद सैनिकों के बलिदान को याद किया और वीर नारियों का हौसला बढ़ाया। संचालन संजू यादव ने किया।...

फोटो - http://v.duta.us/a886vQAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/Xo6pMgAA

📲 Get Almora News on Whatsapp 💬