अनुपयोगी साबित हो रहे करोड़ों के एनीकट

  |   Karaulinews

गुढ़ाचन्द्रजी. कस्बे की त्रिवेणी नदी में करीब तीन वर्ष पूर्व अलग-अलग स्थानों पर बनाए गए आधा दर्जन से भी अधिक एनिकट पानी के अभाव में नकारा पड़े हुए हैं। ऐसे में सरकार के करोड़ों रुपए व्यर्थ में बह गए। पानी के अभाव में एनिकटों का आज तक उपयोग नहीं हो पाया है।

दो दशक पहले तक कल-कल की आवाज के साथ बहने वाली त्रिवेणी नदी में सरकार की विभिन्न योजनाओं में करोड़ों रुपए की लागत से तालचिड़ा की ओर से आने वाली नदी में खरेड़ा बालाजी के समीप राजाहेड़ा, तितरोन,मुहाना भूदान, जहाजपुरिया बीड़ा, बाड़ा गांव के समीप व तालचिड़ा गांव के समीप एनिकट बने हुए हैं। इसके अलावा पाल नदी पर बैरबा बस्ती के समीप, बर्माका पुरा के समीप एनिकट, पाल एनिकट,, बूरवाल आदि एनिकटों का निर्माण कराया गया था। इससे पहले करीब पांच करोड़ रुपए की लागत से सिंचाई विभाग ने बोरिंग चौराहे के समीप भी एनीकट का निर्माण करवाया था।...

फोटो - http://v.duta.us/kDbJ8AAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/Cd0cUAAA

📲 Get Karauli News on Whatsapp 💬