अलवर शहर में एम्स और मेडिकल कॉलेज लाने की तैयारी, लेकिन अभी तक कचरा निस्तारण का इंतजाम तक नहीं

  |   Alwarnews

अलवर. कई बीघा जमीन पर फैले हजारों टन जलते कचरे की जो तस्वीर आप देख रहे हैं यह 850 करोड़ रुपए की लागत से एमआईए में बने इएसआईसी मेडिकल कॉलेज से महज 6 किलोमीटर दूर की है। इस इएसआईसी मेडिकल कॉलेज को एम्स में बदलने की तैयारी है। इसके अलावा अलवर शहर में अलग से मेडिकल कॉलेज भवन बनाने के लिए 350 करोड़ रुपए का बजट मंजूर हो गया। लेकिन, राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र अलवर में दो दशक से कचरा निस्तारण प्लांट नहीं है। अलवर शहर से प्रतिदिन निकलने वाला 130 टन से अधिक कचरा जलाकर समाप्त किया जाता है। कचरे को जलाने से आसपास प्रदूषण का स्तर अन्य जगहों से कई गुना अधिक हो जाता है। कई किलोमीटर तक हवा में धुआं व बदबू रहती है।...

फोटो - http://v.duta.us/KOR7KgEA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/V7GcEgAA

📲 Get Alwar News on Whatsapp 💬