आदित्य केस में पुलिस, सीआईडी और एसआईटी सभी फेल

  |   Hamirpur-Hpnews

हमीरपुर। जिला मुख्यालय से सटे गांव सलासी से दो साल के बच्चे की किडनैपिंग में पुलिस, सीआईडी और प्रदेश की तमाम जांच एजेंसियां पौने पांच साल के बाद भी किसी नतीजे तक नहीं पहुंच पाई हैं। किडनैपिंग का मामला दर्ज कर हमीरपुर पुलिस ने मामले की जांच शुरू की थी, लेकिन मासूम का कोई सुराग नहीं लगा। बाद में मामला सीआईडी को सौंपा गया, लेकिन लंबे समय तक जांच प्रक्रिया के बाद सीआईडी भी मामले को नहीं सुलझा पाई।

इसके बाद स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम का गठन कर मामले को एसआईटी को सौंप दिया गया। पौने पांच सालों से इस मामले को एक-दूसरी यूनिट को ट्रांसफर ही किया गया और आरोपी अभी तक कानून की पकड़ से दूर है। आदित्य के माता-पिता की मासूम के घर लौटने के इंतजार में आंखें पथरा गई हैं। वहीं, एसपी सीआईडी शिमला रमन कुमार मीणा ने बताया कि आदित्य किडनैपिंग का मामला धर्मशाला स्थित एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट के पास है। इस मामले में एचटीयू के अधिकारी ही बता सकते हैं।...

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/Ly03WAAA

📲 Get Hamirpur (HP) News on Whatsapp 💬