एसडीओ की कोई भर्ती नहीं हुई थी, केवल फार्म भरे, विपक्ष ने इश्यू बनाया : सीएम

  |   Karnalnews

बिजली निगम द्वारा एसडीओ की भर्ती रद्द करने को लेकर जेजेपी नेता दुष्यंत चौटाला द्वारा अपनी जीत बताने पर सीएम मनोहर लाल ने पलटवार किया है। सीएम ने कहा कि निगम द्वारा एसडीओ की भर्ती नहीं की गई थी, बल्कि नौकरी के लिए केवल फार्म अप्लाई किए थे। अभी केवल विश्लेषण किया जा रहा था। इसके बाद ही भर्ती होनी थी। विपक्ष इसे जानबूझ कर इश्यू बना रहा है। रिजर्व पोस्ट 40 हैं, वे सभी हरियाणा के युवाओं को ही मिली हैं। ये मामला अनरिजर्वड पोस्ट का है।

करनाल के एक होटल में बातचीत के दौरान मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने बताया कि हमने पहली बार यह प्रयोग किया है। उन्होंने कहा कि चेन्नई का विश्वविद्यालय गेट का पेपर कराता है, इसमें हजारों लोग पास होते हैं। ये टेस्ट हायर एजुकेशन के लिए ही होता है, हमने ही एक प्रयोग किया था। उसी परिणाम के तहत उन युवाओं को आफर था जो सरकारी नौकरी में आना चाहते हैं आ सकते हैं। ऐसा पिछली बार भी किया गया था, जिसमें काफी संख्या में हरियाणा के युवा शामिल रहे थे। इस बार या तो हरियाणा के युवाओं के अंक कम थे या फिर उन्होंने नौकरी के लिए अप्लाई नहीं किया। ऐसे में दोबारा से इन पदों का प्रचार किया जाएगा, ताकि ज्यादा से ज्यादा प्रदेश के युवा इसमें शामिल हो सकें। साथ ही दोबारा से इन पदों के लिए टेस्ट लिया जाएगा। सीएम ने यह भी कहा कि ये टेस्ट न तो एचपीएचसी का था और न ही स्टाफ सिलेक्शन का, इसलिए ये भर्ती नहीं रोकी गई है, बल्कि आई हुई अप्लीकेशन को रद्द किया गया है। सीएम ने दावा किया कि वे नौकरियों से हरियाणा के लोगों को दूर नहीं कर सकते, लेकिन सारा कार्य संविधान के तहत होगा, उसी के तहत प्रदेश के युवाओं को नौकरी मिलेगी। क्योंकि देश के संविधान के तहत आप नौकरी के अप्लाई करने पर आप किसी को रोक नहीं सकते हैं।...

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/8NcV0gAA

📲 Get Karnal News on Whatsapp 💬