तूफान में गिरे सागौन को काष्ठागार नहीं पहुंचाया, तस्करी की आशंका

  |   Rajnandgaonnews

राजनांदगांव / सड़क-चिरचारी. वन परिक्षेत्र बाघनदी के पिनकापार परिसर में रात को नवागांव से मासुलजोब पहुंच मार्ग में पिनकापार नर्सरी के पास वन समिति के सदस्यों द्वारा तूफान में गिरे सागौन पेड़ को काटकर ट्रैक्टर में ले जाने की तैयारी थी, लेकिन इसे ग्रामीणों ने पकड़ा तो काष्ठागार सड़क चिरचारी ले जाने की बात कही, लेकिन लकड़ी अभी तक सड़क चिरचारी काष्ठागार नहीं पहुंचा है। बताया जा रहा है कि चार-पांच दिन पहले हवा तूफान से सागौन का मोटा पेड़ गिर कर सड़क पर आ गया था, जिसे किनारे कर छोड़ दिया गया था। तीन दिन बीतने के बाद क्षेत्र के वन समिति सदस्यों ने रात को गिरे पेड़ को काटकर ट्रैक्टर में भरा जा रहा था, कि नवागांव के कुछ ग्रामीण मौके पर पहुंच गए। उन्हें देखकर वन समिति के सदस्य घबरा गए और क्या कर रहे हो पूछने पर लकड़ी चोरी ना हो जाए इसलिए इसे काष्ठागार सड़क चिरचारी ले जाने की बात कही गई, लेकिन अभी तक नहीं पहुंचाया गया है। जब लकड़ी चोरी का डर था, तो तीन दिनों तक क्यों ध्यान नहीं दिया गया।...

फोटो - http://v.duta.us/VxxglAAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/HisFcgAA

📲 Get Rajnandgaonnews on Whatsapp 💬