दुकानदारों से किराया वसूलना नप चंबा के लिए बना टेढ़ी खीर

  |   Chambanews

चंबा। शहर के लेटलतीफ दुकानदारों से 30 लाख किराये की राशि वसूलना नगर परिषद चंबा के लिए टेढ़ी खीर साबित हो रहा है। नगर परिषद चंबा में 456 पंजीकृत दुकानदारों में से अधिकांश दुकानदारों द्वारा समयानुसार किराया चुकता न करने से ही इस प्रकार की नौबत पेश आई है। नप चंबा ने राशि वसूलने के लिए कई बार दुकानदारों को नोटिस जारी करने, बिजली कनेक्शन काटने संबंधी भी चेतावनी दी है। बावजूद इसके शहर के कुछ दुकानदार किराया देने में दिलचस्पी ही नहीं दिखा रहे हैं।

गौरतलब हो कि नगर परिषद चंबा के तहत मुख्य बाजार चंबा, कसाकड़ा मोहल्ला, बालू, जुलाहकड़ी, शीतला ब्रिज, पुलिस अधीक्षक आवास के समीप और राजीव गांधी कांपलेक्स में 456 खोखे/दुकानदार हैं। नप चंबा द्वारा इन दुकानदारों से किराया वसूला जाता है। नप चंबा द्वारा बीते माह जारी किए गए नए निर्देशों के अनुसार पंजीकृत खोखा धारकों/दुकानदारों को जुलाई 2019 से 847 रुपये किराया और 18 प्रतिशत जीएसटी के तहत एक हजार रुपये किराया चुकता करना होगा। बावजूद इसके अभी तक अधिकांश खोखा धारक/दुकानदारों द्वारा किराया चुकता नहीं किया जा सका है। नप राजीव गांधी कांपलेक्स में स्थित 44 दुकानें नप चंबा द्वारा किराये पर दी गई हैं। कांपलेक्स में स्थित 13 दुकानदारों के पास ही नप चंबा की 30 हजार से लेकर ढाई लाख तक राशि फंसी है।...

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/clkFvQAA

📲 Get Chamba News on Whatsapp 💬