देर रात तक हुआ मां देवी की प्रतिमा का विसर्जन, पढ़ें खबर

  |   Sagarnews

बीना. नौ दिनों तक क्षेत्रवासी शक्ति की भक्ति में लीन रहे। दशहरे पर हवन, पूजन के बाद प्रतिमाओं का विसर्जन धूमधाम से किया गया। विसर्जन के लिए मोतीचूर नदी पर प्रशासन चाक चौबंद व्यवस्थाएं की गई है। विसर्जन के पहले सभी देवी पंडालों में मां दुर्गा की पूजा की गई और हवन किया गया। इसके बाद दोपहर दो बजे से चल समारोह शुरू हो गए थे। श्रद्धालुओं ने ट्रैक्टर-ट्रॉली और ट्रक में माता रानी की झांकी सजाई थी और बैंड बाजे, साउंड की धुन में थिरकते हुए चल रहे थे। शहर के मुख्य मार्गों से होते हुए झांकियां मोतीचूर नदी पहुंची, जहां नदी में प्रतिमाओं का विसर्जन किया गया था। नदी पर नपा द्वारा प्रकाश व्यवस्था और तैराकों की व्यवस्था की गई थी, क्योंकि नदी में पानी ज्यादा था। इस वर्ष देवी प्रतिमाओं का विसर्जन के्रन से किया गया ताकि किसी के लिए नदी में न उतरना पड़े और घटना होने का भी डर न रहे। शहर में जगह-जगह पुलिस जवान तैनात किए गए थे, जिससे चल समारोह शांतिपूर्वक निकाले जा सके। देर रात तक चल समारोह निकलते रहे और मुख्य मार्गों पर झांकियां देखने वालों की भीड़ भी लगी रही।...

फोटो - http://v.duta.us/ibIKSgAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/B5m1EQAA

📲 Get Sagar News on Whatsapp 💬