दशहरे पर्व की खुशी को वह देखता इससे पहले आ टपकी मौत , दूसरे साथी की अब तक नदी में तलाश

  |   Barannews

डूबने से एक की मौत, दूसरे की तलाश

छबड़ा. कस्बे में दशहरे के पर्व में रंग में भंग उस समय पड़ गया जब दुर्गा प्रतिमाओं का विसर्जन करने गए दो युवक नहाते समय पानी के बहाव में बह गए। इनमें से एक युवक का शव बरामद कर लिया तथा दूसरे की तलाश जारी है।

कस्बे से करीब आठ किलोमीटर दूर गुगोर गांव में मंगलवार को कस्बे से दुर्गा प्रतिमाएं विसर्जित करने के लिए बड़ी संख्या में युवक गुगोर पहुंचे थे। छबड़ा के अमरचंद राजकीय महाविद्यालय से वर्ष 2015 में निर्दलीय छात्र संघ अध्यक्ष बने झरखेड़ी निवासी विकास चतुर्वेदी (२२) अपने साथी हलेसरा निवासी रोहित गालव (२२), मंगल चौधरी व मनीष शर्मा के साथ गुगोर में पार्वती नदी की पुलिया के समीप नहा रहे थे। अचानक विकास चतुर्वेदी एवं रोहित गालव नदी के तेज बहाव में बह गए। उन्हें बहता देख छबड़ा निवासी मनोहर एवं गुगोर निवासी तैराक निरंजन खारोल उन्हें बचाने के लिए नदी में कूदे तो निरंजन ने विकास को पार्वती नदी के दूसरे छोर पर जाकर बाहर निकाल छबड़ा चिकित्सालय पहुंचाया। जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इस बीच मौके पर पहुंची एनडीआरएफ की टीम व स्थानीय गोताखोरों की सहायता से रोहित गालव को ढूंढना शुरू किया। रात तक उसकी तलाश जारी थी। विकास की मौत से उनके मित्रों एवं रिश्तेदारों का रो-रोकर बुरा हाल था। परिजनों के पोस्टमार्टम कराने से मना करने पर पुलिस ने विकास का शव बिना पोस्टमार्टम के सौंप दिया। मौके पर छबड़ा थाना प्रभारी रामानंद यादव, र्डीएसपी गोविंद सिंह बारहठ, तहसीलदार दिलीप सिंह प्रजापत भी मौजूद थे। अधिकारियों का कहना है कि अब दूसरे युवक की तलाश बुधवार को की जाएगी।

फोटो - http://v.duta.us/HQgShAAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/hLtrtwAA

📲 Get Baran News on Whatsapp 💬