दशहरा: पाली में बुराई के प्रतीक रावण की लंका हुई राख, चंद क्षणों में रावण का दंभ भी चूर

  |   Palinews

पाली. असत्य पर सत्य और बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक दशहरा पर्व मंगलवार को जिलेभर में हर्षोल्लास से मनाया गया। रावण की लंका जलाकर बुराइयों का अंत करने का संकल्प लिया गया। शहर में रामलीला मैदान में भव्य समारोह आयोजित किया गया, जिसमें चंद क्षणों में रावण की लंका जलकर खाक हो गई। रावण, मेघनाद और कुंभकर्ण के पुतले भी सत्य के समक्ष कुछ ही मिनटों में राख के ढेर में बदल गए।

नगर परिषद के तत्वावधान में मंगलवार शाम 6.28 मिनट पर सांसद पी पी चौधरी, विधायक ज्ञानचंद पारख, जिला कलक्टर दिनेशचंद जैन, पुलिस अधीक्षक आनंद शर्मा व सभापति महेन्द्र बोहरा ने रिमोट से सर्वप्रथम मेघनाद का पुतला फूंका। तत्पश्चात कुंभकर्ण और रावण के पुतलों पर तीर चलाए। जैसे ही रावण का परिवार धुं-धुं कर जलने लगा अहंकार का खात्मा हो गया। बुराई के रूप में खड़ी की गई सोने की लंका भी राख हो गई। रावण दहन के दौरान आतिशबाजी गई। आसमान में रंग-बिरंगी तारे खुशियों के रूप में चमकते नजर आए। 50 फीट का दंभ रूपी रावण एक से डेढ़ मिनट में ही राख हो गया। इससे पूर्व पानी दरवाजा स्थित रघुनाथ मंदिर से राम-लक्ष्मण शोभायात्रा के रूप में रामलीलाल मैदान पहुंचे।...

फोटो - http://v.duta.us/55qkGQAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/zXA56wAA

📲 Get Pali News on Whatsapp 💬