भगवान राम ने अग्निबाण छोड़कर अहंकारी रावण को किया भस्म

  |   Amrohanews

अमरोहा। जिलेभर में अधर्म पर धर्म की विजय का उत्सव विजयदशमी धूमधाम से मनाया गया। दशहरा मैदान में भगवान राम और रावण की सेना के बीच युद्ध हुआ। भगवान राम का अग्निबाण जैसे ही अहंकारी रावण की नाभि में लगा तो दशानन का शरीर छिन्न-भिन्न होकर जमीन पर गिर पड़ा। रावण की सेना में हाहाकार मच गया। थोड़ी ही देर में जिले 25 स्थानों पर रावण, कुंभकर्ण और मेघनाथ के पुतले धूं-धूं कर जल उठे। चारों ओर भगवान राम की जय-जयकार होने लगी।

मंगलवार को श्रीधार्मिक रामलीला कमेटी के तत्वावधान में जेएस हिंदू इंटर के दशहरा मैदान में आयोजित रामलीला में राम-रावण युद्ध की लीला देखने को भक्तों का सैलाब उमड़ पड़ा। यहां कलाकारों ने रामलीला का मनमोहक मंचन किया। रावण के भाई अहिरावण के कुशलक्षेम पूछने पर रावण ने उसे सूर्पनखा से लेकर सारी कहानी बताईं। अहिरावण से युद्ध में साथ देने का आह्वान किया। इसके बाद युद्ध हुआ। विभीषण ने भगवान श्रीराम को रावण की नाभि में अमृत का रहस्य बताया। इसके बाद श्रीराम ने एक ही बाण में उसकी नाभि का अमृत सुखाकर रावण को ढेर कर दिया। लीला मंचन के बाद भगवान राम के साथ डीएम उमेश मिश्रा और एसपी डॉ. विपिन ताडा ने बाण छोड़कर रावण का पुतला जलाया। लक्ष्मण के साथ एडीएम गुलाब चंद्र और पालिका अध्यक्ष शशि जैन ने कुंभकरण और एसडीएम सुखबीर सिंह और सीओ अजय कुमार ने मेघनाथ के पुतले का दहन किया। देखते ही देखते पुतले जल उठे। जिसके बाद भक्तों ने भगवान राम की जय-जयकार की। इस दौरान रामलीला कमेटी के पदाधिकारी मौजूद रहे। मेले में आतिशबाजी आकर्षण का केंद्र रही। इस आतिशबाजी के चलते कई बार आसमान रंगीन हो गया। यहां आसमान ने छतरी, सितारे बनकर चमक रहे पटाखों से बच्चों में कौतूहल पैदा हो गया।...

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/OZfypwAA

📲 Get Amroha News on Whatsapp 💬