भूना के मेहनती कार्यकर्ताओं की अनदेखी

  |   Fatehabadnews

फतेहाबाद विधानसभा मे विधायक की बागडोर सौंपने वाला भूना कस्बा राजनीतिक लोगों की अपेक्षाओं का शिकार हुआ है। भूना के कई नेताओं ने विधानसभा चुनाव लड़ने के लिए अपनी दावेदारी भी कई बार पेश की है परंतु राष्ट्रीय व क्षेत्रीय दलों ने भूना के मेहनती कार्यकर्ताओं की अनदेखी करके उन्हें टिकट से कोसों दूर रखा। मगर पार्टी संगठन की मजबूती के लिए दिन रात सड़क पर प्रचार-प्रसार करने वालों को दरकिनार करके पैराशूट या धनबल के बूते पर चुनावी दंगल में नेता ताल ठोक देते हैं। मगर धरातल पर काम करने वाले स्थानीय नेताओं को हाईकमान के निर्णय पर क्रोध को दबाने पर बेबस होना पड़ रहा है। फतेहाबाद विधानसभा में 57 गांवों एवं ढाणियों के 2 लाख 39 हजार 231 मतदाता है। किंतु इनमें भूना ब्लॉक के 10 गांव हैं। जिनमें 62300 मतदाता विधायक बनाने में अपनी निर्णायक भूमिका निभाते हैं। हैरानी जनक बात तो यह है कि 12 विधानसभा के चुनाव हो चुके हैं और 13वीं विधानसभा को लेकर चुनावी प्रक्रिया चल रही है। लेकिन भूना कस्बा के एक भी व्यक्ति को राष्ट्रीय एवं क्षेत्रीय पार्टी ने चुनाव लड़ने के लिए टिकट नहीं दी गई।...

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/51fbWAAA

📲 Get Fatehabad News on Whatsapp 💬