मौत के मायने नहीं जानती मासूम बेटी पर पिता की थी अंतिम इच्छा, इसलिए चिता को आग देने श्मशान पहुंची 7 साल की वेदिका

  |   Bemetaranews

बालोद/अर्जुन्दा. नगर के मुक्तिधाम में एक सात साल की मासूम बेटी ने अपने पिता को मुखाग्नि दी तो वहां उपस्थिति लोगों की आंखें नम हो गई। मान्य परंपरा के विपरीत बेटा नहीं होने पर बेटी ने बेटे का फर्ज निभाया वो भी सात साल की उम्र में। यह दुखद घटना नगर पंचायत के परमेश्वरी वार्ड की है। देवांगन समाज के पूर्व अध्यक्ष मुरारीलाल देवांगन के छोटे पुत्र गैंदलाल 33 वर्ष का निधन हो गया। उनका स्वास्थ्य कुछ दिनों से ठीक नहीं था। शनिवार को वह घर पर ही आराम कर रहा था। दोपहर 12 बजे अचानक स्वास्थ्य बिगड़ गया। परिजन उसे तत्काल सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले गए जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।...

फोटो - http://v.duta.us/kE8NJQAA

यहां पढें पूरी खबर- - http://v.duta.us/j3kfcwAA

📲 Get Bemetaranews on Whatsapp 💬